मंड्या के मंदिर में 3 पुजारियों की नृशंस हत्या

346

मंड्या/दक्षिण भारत। मंड्या शहर के बाहरी इलाके गुट्टालु में शुक्रवार सुबह श्री अरकेश्वर मंदिर के प्रांगण में तीन पुजारियों की नृशंस हत्या कर दी गई। पुजारी गणेश, प्रकाश और आनंद के शव खून से लथपथ थे। शवों के सिर बुरी तरह कुचले हुए थे। मंदिर का दरवाजा खुला होने पर ग्रामीणों ने शवों को देखा।

हत्यारे केवल करेंसी नोट ले गए और सिक्कों वहीं छोड़ गए। तीनों मृतक चचेरे भाई थे और मंदिर के पुजारी के तौर पर कार्यरत थे। पुलिस ने बताया कि तीनों मंदिर और उसकी संपत्ति की सुरक्षा के लिए परिसर में सोते थे। इस संबंध में मंड्या पूर्व पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। मंड्या एसपी परशुराम ने कहा कि दोषियों का पता लगाने के लिए विशेष टीमें बनाई जाएंगी।

सूचना के बाद आईजीपी (दक्षिणी रेंज) विपुल कुमार मैसूरु से घटनास्थल आए। मंदिर मुजराई विभाग के अंतर्गत आता है और गुट्टालु के इस मंदिर को ‘बी’ समूह मंदिर का दर्जा दिया गया है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने तीनों मृतकों के परिवारों के लिए 5-5 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा की है।

नींद में हुई हत्या!
विभिन्न रिपोर्टों में यह संदेह जताया गया है कि तीनों की हत्या नींद में ही कर दी गई, क्योंकि घटनास्थल से किसी तरह के प्रतिरोध का सुराग नहीं मिला। इसके अलावा, पुलिस को शक है कि हत्या में तीन से अधिक हमलावर शामिल हो सकते हैं।

लूटी नकदी
पुलिस ने यह भी आशंका जताई है कि इन हत्याओं के पीछे डकैती का मकसद हो सकता है, चूंकि दानपात्र और नकदी लूटी गई थी। मंदिर के बाहर खाली दानपात्र पाए गए। हत्यारे मंदिर में मौजूद नकदी के अलावा तीन दानपात्र लूटकर भागने में कामयाब हुए। दानपात्र के पास सिक्के भी बिखरे हुए थे।

अपराधियों की तलाश जारी
पुलिस ने कहा कि भागने से पहले बदमाशों ने ज्यादा कीमती सामान और नकदी की तलाश में मंदिर के गर्भगृह में भी तोड़फोड़ की। मंड्या पुलिस अपराधियों को ढूंढ़ने के लिए खोजी श्वानों की मदद ले रही है। फोरेंसिक विशेषज्ञों ने अपराध स्थल से सबूत इकट्ठे करने शुरू कर दिए हैं।