logo
मंत्री उमेश कट्टी के निधन के बाद कर्नाटक में रहेगा एक दिन का राजकीय शोक
मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई समेत कई नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है
 
कट्टी के पास राज्य के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले और वन विभाग का प्रभार था

बेंगलूरु/दक्षिण भारत/भाषा। कर्नाटक सरकार ने अपने मंत्री उमेश कट्टी के निधन पर राज्य में एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।

कट्टी का मंगलवार रात यहां एक निजी अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वे 61 साल के थे।

राज्य सरकार ने अपने आधिकारिक आदेश में कहा कि मंत्री का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। बेलगावी जिले के सरकारी कार्यालयों के साथ-साथ सभी स्कूल और कॉलेज बुधवार को बंद रहेंगे।

कट्टी के पास राज्य के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले और वन विभाग का प्रभार था।

सूत्रों के मुताबिक, कट्टी यहां डॉलर्स कॉलोनी स्थित अपने आवास के स्नानगृह में गिर गए थे और उन्हें अस्पताल ले जाया गया था। अस्पताल पहुंचने पर चिकित्सकों ने बताया कि उनका पहले ही निधन हो चुका है।

उनके पार्थिव शरीर को एयर एंबुलेंस के जरिए उनके गृह जिले बेलगावी ले जाया जाएगा, और अंतिम दर्शन के लिए संकेश्वर में हीरा शुगर फैक्ट्री में रखा जाएगा। बाद में पार्थिव शरीर को हुक्केरी तालुक में कट्टी के पैतृक गांव बेल्लादबागेवाड़ी ले जाया जाएगा, जहां शाम को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

कट्टी के परिवार में पत्नी, एक बेटा और एक बेटी हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘श्री उमेश कट्टीजी एक अनुभवी नेता थे, जिन्होंने कर्नाटक के विकास में महत्वपूर्ण योगदान किया। उनके निधन से दुखी हूं। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार तथा समर्थकों के साथ हैं। ओम शांति।’

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई समेत कई नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने से पहले कट्टी जनता पार्टी, जनता दल (यूनाइटेड) और जनता दल (सेक्युलर) का हिस्सा भी रह चुके हैं।

<