logo
पीएसआई भर्ती मामले की चल रही निष्पक्ष जांच: बोम्मई
बोम्मई ने मंत्रिमंडलीय सहयोगी तथा उच्च शिक्षा मंत्री सीएनए नारायण के खिलाफ ‘निराधार’ आरोप लगाने के लिए कांग्रेस नेताओं की आलोचना की
 
मुख्यमंत्री ने विपक्षी दल पर बिना सुबूत के जल्दबाजी दिखाने का आरोप लगाया

बेंगलूरु/भाषा। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बृहस्पतिवार को कहा कि पुलिस उप निरीक्षकों (पीएसआई) की भर्ती में कथित घोटाले की निष्पक्ष जांच चल रही है और इसमें शामिल पाए जाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बोम्मई ने मंत्रिमंडलीय सहयोगी तथा उच्च शिक्षा मंत्री सीएनए नारायण के खिलाफ ‘निराधार’ आरोप लगाने के लिए कांग्रेस नेताओं की आलोचना की और विपक्षी दल पर बिना सुबूत के जल्दबाजी दिखाने का आरोप लगाया।

उन्होंने पीएसआई घोटाले के संबंध में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘जिस किसी के भी पास से जो भी शिकायतें आई हैं उन पर विचार किया जाएगा, अगर कोई कागजात दिए जाते हैं तो उनकी भी जांच की जाएगी। अगर उनमें जरा भी सच्चाई है, तो जिसके भी खिलाफ मामला दर्ज करने की जरूरत होगी, किया जाएगा।’

मुख्यमंत्री ने यहां संवाददताओं से बातचीत में कहा कि सरकार निष्पक्ष जांच को लेकर बेहद स्पष्ट है और व्यापक पैमाने पर जांच जारी है।

गौरतलब है कि यह मामला राज्य में पिछले वर्ष अक्टूबर में 545 पुलिस निरीक्षकों की भर्ती के लिए हुई लिखित परीक्षा में कथित हेराफेरी अथवा कदाचार का है।

राज्य सरकार ने उन परीक्षाओं को रद्द करने और दोबारा परीक्षा कराने का निर्यण किया है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि इस मामले में अब तक 25 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

मामले की जांच कर रही कर्नाटक पुलिस की अपराध जांच शाखा ने हाल में दिव्या हागरागी और उसके सहयोगियों को पुणे से गिरफ्तार किया था और उसे कलबुर्गी लाया गया था। कहा जाता है कि दिव्या भाजपा से जुड़ी है।

<