वायरल वीडियो से लिया गया चित्र
वायरल वीडियो से लिया गया चित्र

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। शहर में 299 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बाइक दौड़ा रहे एक शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसकी यामाहा आर1 बाइक भी जब्त कर ली गई है। मामले का दूसरा पहलू यह है कि तेज रफ्तार से बाइक चलाने का वीडियो खुद इस शख्स ने ही सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। संभवत: इसके पीछे चर्चा में आने और वाहवाही पाने की मंशा रही होगी लेकिन इस वजह से यह शख्स पुलिस की गिरफ्त में आ गया।

सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में देखा गया कि बेंगलूरु के फ्लाईओवर पर यह शख्स 1,000 सीसी की बाइक लगातार तेज रफ्तार से दौड़ा रहा है। यह यामाहा आर1 बाइक 10 किलोमीटर लंबे और चार लेन वाले इलेक्ट्रॉनिक सिटी एलिवेटेड एक्सप्रेसवे, जो ई-सिटी फ्लाईओवर के नाम से भी जाना जाता है, पर इतनी तेजी से दौड़ रही थी कि उसने दूसरों की जिंदगी खतरे में डाल दी।

इस दौरान उसे मार्ग में वाहन भी मिले, अगर बाइक अनियंत्रित हो जाती तो बड़ा हादसा हो सकता था। उसने वाहनों को 200 किमी प्रति घंटे से अधिक की रफ्तार से ओवरटेक भी किया। बाइकर की इस हरकत ने खुद के अलावा कई अन्य लोगों के जीवन को खतरे में डाल दिया।

यह वीडियो उक्त बाइकर ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर पोस्ट किया। हालांकि बाद में जब इस पर हंगामा हुआ तो उसने वीडियो को प्राइवेट कर दिया। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि वीडियो कब रिकॉर्ड किया गया था, लेकिन सोशल मीडिया पर वीडियो आने से जल्द ही पुलिस को इसके बारे में पता चल गया।

शहर की क्राइम ब्रांच ने फुर्ती दिखाते हुए बाइकर मुनियप्पा की पहचान की और उसे गिरफ्तार कर लिया। साथ ही उसकी बाइक को भी जब्त कर लिया। शहर के संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) संदीप पाटिल ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। बेंगलूरु यातायात पुलिस ने भी अपने फेसबुक अकाउंट से वीडियो – ‘ड्राइव सेफ’ टिप्पणी के साथ शेयर किया है।