बेंगलूरु में उच्चतम न्यायालय की क्षेत्रीय पीठ स्थापित हो: केसी राममूर्ति

उच्चतम न्यायालय। स्रोत: Supreme Court of India Website
उच्चतम न्यायालय। स्रोत: Supreme Court of India Website

भाजपा सांसद ने राज्यसभा में की मांग

नई दिल्ली/बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक से भाजपा के राज्यसभा सांसद केसी राममूर्ति ने गुरुवार को संसद के उच्च सदन में शून्यकाल का नोटिस दिया। इसमें बेंगलूरु सहित देशभर में उच्चतम न्यायालय की चार क्षेत्रीय पीठों की स्थापना की मांग की गई है।

सांसद ने इस पर कहा कि दिल्ली में शीर्ष अदालत की पीठ संवैधानिक मामलों पर ध्यान केंद्रित कर सकती है, वहीं अन्य पीठ अपील पर ध्यान केंद्रित कर सकती हैं। उन्होंने इसके फायदे गिनाते हुए कहा कि इस कदम से बड़ी संख्या में लंबित मामलों में कमी आएगी।

सांसद ने संसदीय समिति की एक रिपोर्ट का उल्लेख करते हुए बताया कि फरवरी 2021 तक उच्चतम न्यायालय में लंबित मामलों की संख्या करीब 66,000 है।

उल्लेखनीय है कि बेंगलूरु में उच्चतम न्यायालय की पीठ स्थापना की मांग पुरानी है। जनवरी 2018 में, कर्नाटक के तत्कालीन उद्योग मंत्री आरवी देशपांडे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर यह मांग की थी कि बेंगलूरु को देश की शीतकालीन राजधानी बनाया जाए।

सांसद राममूर्ति साल 2019 के आखिर तक कांग्रेस में थे। वे दिसंबर 2019 में भाजपा के टिकट पर राज्यसभा सांसद निर्वाचित हुए थे। वे राज्यसभा सांसद के रूप में कार्मिक, लोक शिकायत और कानून व न्याय की स्थायी समिति के सदस्य रहे हैं। वे आईपीएस अधिकारी रहे हैं और साल 2007 में स्वेच्छा से सेवानिवृत्त हुए। उस समय वे अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (यातायात और सुरक्षा) थे।