मुख्यमंत्री येडियुरप्पा ने 1971 के युद्ध नायकों का किया सम्मान

विजय मशाल के साथ मुख्यमंत्री येडियुरप्पा।
विजय मशाल के साथ मुख्यमंत्री येडियुरप्पा।

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने मंगलवार को 1971 के युद्ध नायकों को सम्मानित किया। इस अवसर पर लेफ्टिनेंट जनरल ए. अरुण जनरल ऑफिसर कमांडिंग दक्षिण भारत क्षेत्र ने विधानसभा में मुख्यमंत्री येडियुरप्पा को विजय मशाल सौंपी।

कार्यक्रम में रियर एडमिरल एसके गुप्ता, एमवीसी, जेपीए नोरोन्हा (एमवीसी) की पत्नी टीबीएम नोरोन्हा, मेजर जनरल केपी नांजप्पा, एवीएसएम, वीआरसी, ब्रिगेडियर पीवी सहदेवन, एवीएसएम, वीआरसी, वीएसएम, रियर एडमिरल आरआर सूद, वीआरसी, एनएम, कमांडर केएस पंवार, वीआरसी और विंग कमांडर ए रघुनाथ, वीआरसी को सम्मानित किया गया।

इस कार्यक्रम में कई दिग्गजों ने भी भाग लिया जिन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 1971 का युद्ध लड़ा था। यह साल 1971 में पाकिस्तान पर भारत की जीत की 50वीं वर्षगांठ भी है। 16 दिसंबर, 1971 को 93,000 पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सशस्त्र बलों के सामने आत्मसमर्पण करते हुए अपनी पराजय स्वीकार की थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 दिसंबर, 2020 को राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर ‘स्वर्णिम विजय वर्ष समारोह’ का उद्घाटन करते हुए देश के वीरों को श्रद्धांजलि अर्पित की थी। उन्होंने एक लोगो जारी किया और स्वर्णिम विजय वर्ष मशाल प्रज्वलित की थी।