जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते के लिए प्रतिबद्धः बीबीएमपी

प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोतः PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोतः PixaBay

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। पेरिस समझौते को लेकर औद्योगिक स्तरों के 2 डिग्री सेल्सियस तापमान के बीच वैश्विक औसत तापमान में बढ़ोतरी को बनाए रखने के लिए बेंगलूरु ने अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है। वहीं तापमान में बढ़ोतरी को सीमित करने के प्रयासों को 1.50 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ा दिया है। उल्लेखनीय है कि पेरिस समझौता जलवायु परिवर्तन पर कानूनी रूप से लागू एक अंतरराष्ट्रीय संधि है।

बीबीएमपी आयुक्त एन मंजूनाथ प्रसाद ने हाल में लॉस एंजिल्स के मेयर गार्सेटी को अपनी प्रतिबद्धता जाहिर करते हुए पत्र लिखा है। गौरतलब है कि इस समझौते का उद्देश्य अनुकूलन के माध्यम से जलवायु परिवर्तन के विपरीत प्रभावों से निपटने के लिए हर देश की क्षमता को मजबूत करना है। यह समझौता स्थायी विकास और सभी समुदायों को शामिल करते हुए तैयार किया गया है।

सी40 समूह और उसके भागीदारों द्वारा किए गए शोध से पता चलता है कि पेरिस समझौते के लक्ष्यों को प्राप्त करने में गंभीरता आवश्यक है। सी40 शहरों द्वारा किए गए पर्यावरण संबंधी काम पर नजर बनाए रखता है।

प्रसाद ने अपने पत्र में कहा है कि पेरिस समझौते के कार्यान्वयन को लेकर मैं जलवायु संबंधी कई योजनाएं शुरू करने के लिए बेंगलूरु शहर को प्रतिबद्ध करता हूं। हम पेरिस समझौते की योजनाओं और लक्ष्यों के अनुसार काम करते हुए ग्रीनहाउस गैस (जीएचजी) उत्सर्जन को कम करने और जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को अनुकूल बनाने की दिशा में काम करेंगे।

प्रसाद ने यह भी कहा कि साल 2050 तक हम ग्रीनहाउस गैस के उत्सर्जन को सामान्य करने के लक्ष्य को हासिल करेंगे, जिसके लिए हमने अंतरिम साल 2030 तय किया है।