गांधी प्रतिमा के लिए कर रही थीं धरना, कांग्रेस सांसद जोथिमनी को हिरासत में लिया गया

फोटो स्रोत: @MahilaCongress ट्विटर अकाउंट।
फोटो स्रोत: @MahilaCongress ट्विटर अकाउंट।

चेन्नई/दक्षिण भारत। कांग्रेस से करूर की सांसद जोथिमणि को शनिवार को उनके निर्वाचन क्षेत्र में शनिवार को पुलिस ने जबरन उठा लिया और हिरासत में ले लिया। दरअसल वे एक 70 साल पुरानी गांधी प्रतिमा को बदलकर नई कांस्य मूर्ति लगाने का विरोध कर रही थी।

कांग्रेस सांसद कई पार्टी सदस्यों के साथ घटनास्थल के पास इकट्ठा हुए और करूर के लाइटहाउस रोड पर निर्माण का निरीक्षण किया। करूर नगरपालिका के अधिकारियों ने हाल ही में एक गांधी प्रतिमा को हटा दिया था और लाइटहाउस रोड पर एक नई कांस्य प्रतिमा स्थापित की थी। हालांकि, जोथिमणि ने निर्माण का निरीक्षण करते हुए आरोप लगाया कि छूने से ही उसका सीमेंट खराब हो रहा है और निर्माणकर्ता का अनुबंध विवरण जानने की मांग की। हालांकि, पुलिस ने अन्य कांग्रेस सदस्यों के साथ उन्हें हिरासत में ले लिया।

मौके से एक वीडियो भी सामने आया जिसमें जोथिमणि कांग्रेस सदस्यों के साथ विरोध प्रदर्शन और पुलिस से बात करते हुए दिखाई दे रही हैं। हालांकि, जब बात नहीं बनी तो महिला पुलिस कर्मियों को जोथिमनी को उठाते हुए देखा जा सकता है जिसमें वो जमीन पर बैठकर विरोध करने की कोशिश कर रही हैं।

सोशल मीडिया पर जोथिमणि ने कहा कि करूर में एक गांधी प्रतिमा जो 70 वर्षों से खड़ी थी, हाल ही में हटा दी गई है। जब मैंने अनुबंध विवरण जानने की मांग करते हुए विरोध किया तो अन्नाद्रमुक सरकार ने मुझे जबरदस्ती बंदी बना लिया।

उन्होंने कहा कि सरकार उसी जगह पर एक पेडस्टल का निर्माण कर रही है, जो सब-स्टैंडर्ड क्वालिटी का है, जो हमारे हाथों से छूने पर ही खराब हो रहा है। यदि ढांचा ढह जाता है तो यह एक खतरनाक स्थिति पैदा कर सकता है। इसलिए, सरकार ने हमें इस संबंध में पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया है।

हिरासत में लिए जाने के तुरंत बाद, जोथिमणि ने एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा कि हर महिला, हर तमिल को खड़ा होना चाहिए और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी के शासन को समाप्त करने के लिए अपनी आवाज देनी चाहिए।

तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष केएस अलागिरी ने ट्विटर पर कहा कि हम सांसद जोथिमणि की गिरफ्तारी और पुलिस के बर्बर कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं। मैं तमिलनाडु सरकार से अनुरोध करता हूं कि वह उसे तुरंत रिहा करे और उचित तरीके से गांधी प्रतिमा का निर्माण करे।