जल्द ही हम्पी में आवागमन के लिए नजर आएंगी इलेक्ट्रिक बसें

प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

हम्पी/दक्षिण भारत। हम्पी में पर्यटक विभिन्न स्मारकों के बीच आवागमन के लिए इलेक्ट्रिक बसें देखने को मिल सकती हैं। तेजी से गर्मियां आने के साथ नए बैटरी संचालित वाहन पर्यटकों के लिए राहत साबित हो सकते हैं।

फिलहाल, गीजला मंटापा और विजया विट्टाला मंदिर परिसर (2 किमी दूरी) के बीच पर्यटकों के लिए 15 इलेक्ट्रिक बग्गी काम कर रही हैं और जल्द ही इलेक्ट्रिक बसों को भी इसमें जोड़ा जाएगा। बग्गी के विपरीत, बसें हम्पी के आसपास घूमेंगी और पर्यटकों के पास अन्य स्थलों तक पहुंचने का विकल्प होगा।

बसों को चेन्नई स्थित निजी कंपनी द्वारा विकसित किया गया है और यह परियोजना हम्पी विश्व विरासत क्षेत्र प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा कार्यान्वित की जा रही है। मंगलवार को, एक ट्रायल रन शुरू हुआ, जहां एक इलेक्ट्रिक बस ने विभिन्न स्थानों की यात्रा की ताकि मोड़ और अन्य पहलुओं के दौरान गति, प्रदर्शन की जांच की जा सके।

बताया गया नए वाहन में एक बार में 20 पर्यटक आ पाएंगे और उन्हें जरूरत के आधार पर संचालित किया जाएगा। पहले चरण में हम्पी के लिए पांच-छह इलेक्ट्रिक बसें लाने की योजना बना रहे हैं। बसें हम्पी और उसके आस-पास के कई जगहों को कवर करेंगी।