स्कूल खुलने के बाद मेट्रो की सवारियों में भारी बढ़ोतरी

प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। नए साल में फिर शुरू र्हुइं कॉलेज और स्कूलों में ऑफलाइन कक्षाओं के बाद मेट्रो ने एक बार फिर प्रतिदिन 1.25 लाख सवारियों के आंकड़े को छू लिया है। हालांकि मेट्रो ने शहरभर में 7 सितंबर से अपनी सेवाएं फिर शुरू की थीं लेकिन एक दिन में एक लाख सवारियां अभी तक देखने को नहीं मिली थीं।

बेंगलूरु मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीएमआरसीएल) के कार्यकारी निदेशक एएस शंकर ने बताया कि स्कूलों और कॉलेजों के लिए फिर से जाने वाले छात्रों की वजह से मेट्रो की सवारियों में बढ़ोतरी देखी गई है। हम पिछले कुछ महीनों से प्रतिदिन औसत एक लाख सवारियों के आंकड़े से थोड़ा पीछे थे लेकिन अब छात्रों के आने से सवारियों में हुई बढ़ोतरी काफी अच्छा संकेत है।

इसके अलावा, फेज-1 में येलचैनेहल्ली-नागासंद्रा के बीच चलने वाली ग्रीन लाइन, जो आमतौर पर सवारियों के मामले में पर्पल लाइन से पीछे रहती है, वहां भी अब अच्छी बढ़त है।

वहीं मेट्रो के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि वर्क फ्रॉम होम का चलन शुरू होने से सवारियों में काफी गिरावट देखी जा रही है। हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले दिनों में ग्रीन लाइन में नए रूट लॉन्च होने के बाद सवारियों की संख्या में बढ़त देखने को मिलेगी।

वहीं शंकर ने स्मार्ट कार्ड रिचार्ज पर कहा कि अब कोई भी पेटीएम का उपयोग कर स्मार्ट कार्ड रिचार्ज कर सकता है। हमने पांच दिन पहले इस सुविधा को शुरू किया और यात्रियों की तरफ से हमें इसका अच्छा फीडबैक मिला।

आपको बता दें कि अब स्मार्ट कार्ड रिचार्ज करने के लिए नम्मा मेट्रो ऐप इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं है। अब आप पेटीएम के जरिए अपना मेट्रो कार्ड रिचार्ज कर सकते हैं।