अवैध खनन को बर्दाश्त नहीं किया जा सकताः येडियुरप्पा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा

मैसूरु/दक्षिण भारत। अवैध खनन पर कड़ा रुख अपनाते हुए मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार ऐसी किसी गतिविधि को अनुमति नहीं देगी।

उन्होंने अपने गृह जिले शिवमोगा के लिए रवाना होने से पहले कहा कि अवैध खनन की गतिविधियों के कारण हुए विस्फोट में लोगों की मौत हो गई थी। ऐसी घटनाएं अवैध गतिविधियों के कारण ही होती हैं।

उन्होंने कहा कि मैं अवैध खनन की अनुमति नहीं दूंगा। जो कोई भी खनन करना चाहता है, वह लाइसेंस प्राप्त करने के बाद ही ऐसा कर सकता है।

येडियुरप्पा ने मैसूरु में कहा कि विकास के लिए खनन की जरूरत है। सड़क के काम और राजमार्ग परियोजनाओं के लिए खनन की आवश्यकता है। लेकिन अवैध खनन की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

सीएम ने कहा कि वे खनन को नियमित करने और अपनी गतिविधियों को जारी रखने के लिए आवेदन कर सकते हैं। हमें कोई आपत्ति नहीं है। हमारे डिप्टी कमीश्नर जांच करेंगे और उचित कार्रवाई करेंगे।

वहीं शिवमोगा घटना पर येडियुरप्पा ने कहा कि हमने इसकी व्यापक जांच करने का आदेश दिया था कि किस कारण धमाका हुआ। विस्फोटकों की इतनी बड़ी मात्रा लाने की अनुमति किसने दी? इन सभी बातों पर जांच के बाद गौर किया जाएगा और हम इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

येडियुरप्पा के नेता प्रतिपक्ष सिद्दरामैया पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ‘क्या अवैध खनन अपराध नहीं है?’ उसके लिए क्या सजा है? वह एक जिम्मेदार पद पर रहते हुए इस तरह के नियमितीकरण की बात कैसे कर सकते हैं?