कर्नाटक: यौन उत्पीड़न के आरोप के बाद मंत्री रमेश जारकीहोली ने दिया पद से इस्तीफा

फोटो स्रोत: रमेश जारकीहोली फेसबुक पेज।
फोटो स्रोत: रमेश जारकीहोली फेसबुक पेज।

बेंगलूरु/दक्षिण भारत/भाषा। कर्नाटक के जल संसाधन मंत्री रमेश जारकीहोली ने यौन शोषण के आरोप लगने के बाद पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा को भेजा है।

इससे पहले, कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने बुधवार को कहा कि मंत्री रमेश जारकीहोली के खिलाफ एक शिकायत में लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच पुलिस द्वारा की जाएगी। इस बीच विपक्षी कांग्रेस ने मंत्री से तत्काल इस्तीफा मांगा और उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की।

बोम्मई ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘जो भी शिकायत है, उसके आधार पर हम कानून के मुताबिक जांच कर रहे हैं।’ विपक्ष द्वारा रमेश जारकीहोली का इस्तीफा मांगने के बारे में सवाल के जवाब में बोम्मई ने कहा, ‘हमारी पार्टी फैसला लेगी।’

उपमुख्यमंत्री सीएन अश्वत्थ नारायण ने कहा कि तथ्यों को जाने बगैर मुद्दे पर टिप्पणी करना ठीक नहीं होगा क्योंकि हो सकता है कि आरोप दुर्भावना से प्रेरित होकर लगाए गए हों।

मंगलवार को एक सामाजिक कार्यकर्ता ने पुलिस में जारकीहोली के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। इसमें उन पर रोजगार पाने की आकांक्षी के यौन उत्पीड़न का और उसे तथा उसके परिवार को परिणाम भुगतने की धमकी देने के आरोप लगाए गए थे।

कन्नड़ समाचार चैनलों पर जारकीहोली के कथित वीडियो क्लिप प्रसारित किए गए थे। मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हुए विपक्ष के नेता सिद्दरामैया ने कहा, ‘अगर पार्टी (भाजपा) में जरा भी शर्म है और वे मानवीय मूल्यों का सम्मान करते हैं तो उन्हें (मंत्री का) तुरंत इस्तीफा लेना चाहिए।’

इन आरोपों के बारे में जारकीहोली ने कुछ समाचार चैनलों से कहा कि वे हैरान हैं और ये वीडियो सौ फीसदी फर्जी हैं। उन्होंने मामले की जांच की मांग की है।