हिंसक गतिविधियां करती हुई भीड़
हिंसक गतिविधियां करती हुई भीड़

बेंगलूरु/भाषा। कर्नाटक की राजधानी का पुलकेशीनगर विधानसभा क्षेत्र बुधवार को किसी युद्ध क्षेत्र जैसा दिखाई पड़ा।कांग्रेस विधायक के एक रिश्तेदार द्वारा कथित तौर पर सोशल मीडिया पर ‘सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील’ पोस्ट लिखे जाने के बाद उग्र भीड़ ने जमकर बवाल काटा और वाहनों को आग लगा दी जिसके बाद इलाका लड़ाई क्षेत्र जैसा दिख रहा है।

हिंसा प्रभावित क्षेत्रों की सुनसान पड़ी सड़कों पर जले हुए वाहन, टूटी हुई खिड़कियों के शीशे, ईंटें और पत्थर बिखरे पड़े हैं। मंगलवार की रात से बुधवार तड़के तक चली आगजनी और हिंसा की घटनाओं में 50 पुलिसकर्मी घायल हो गए। भीड़ को नियंत्रित करने के प्रयास में पुलिस द्वारा गोली चलाए जाने से कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।

कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के एक रिश्तेदार द्वारा सोशल मीडिया पर कथित तौर पर ‘सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील’ एक पोस्ट लिखे जाने के बाद एक वर्ग के लोग भड़क उठे जिसके बाद विधायक की संपत्ति और उनके परिवार को निशाना बनाया गया।

विधायक की बहन जयंती ने रोते हुए कहा, ‘जब यह सब हुआ तब हम घर पर नहीं थे। राहत की बात यही है कि मेरा भाई और उनका परिवार सुरक्षित है।’ हिंसक भीड़ ने पुलिस के वाहनों को आग लगा दी और डीजे हल्ली थाने पर भी धावा बोल दिया। पुलिस ने दंगे के आरोप में 110 लोगों को गिरफ्तार किया है।