सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

बेंगलूरु। कर्नाटक में लोकसभा की तीन और विधानसभा की दो सीटों पर शनिवार को हुए उपचुनाव के बाद मंगलवार को मतगणना हुई। चुनाव नतीजे सत्तारूढ़ कांग्रेस और जनता दल (एस) के पक्ष में रहे हैं। गठबंधन ने पांच में से चार सीटों पर कब्जा जमाया है। वहीं एक सीट भाजपा के खाते में गई है। कर्नाटक में लोकसभा की तीन सीटों- बल्लारी, शिवमोग्गा, मंड्या और विधानसभा की दो सीटों- जमखंडी और रामनगर के लिए उपचुनाव हुआ था।

इनमें से शिवमोग्गा सीट के नतीजे भाजपा के पक्ष में गए हैं। बल्लारी और जमखंडी में कांग्रेस उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है। मंड्या और रामनगर में जनता दल (एस) के उम्मीदवार जीते हैं। उपचुनाव में 67 प्रतिशत मतदान हुआ था। बल्लारी में करीब डेढ़ दश​क बाद कांग्रेस की वापसी हुई है।

अब तक प्राप्त नतीजों के अनुसार:
– शिवमोग्गा से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बीएस येड्डीयुरप्पा के बेटे बीवाई राघवेंद्र जीते हैं।
– जमखंडी से कांग्रेस उम्मीदवार आनंद न्यामेगौड़ा विजयी हुए हैं।
– मंड्या से जनता दल (एस) के शिवरामे गौड़ा की जीत हुई है।
– रामनगर से जनता दल (एस) प्रत्याशी अनिता कुमारस्वामी विजयी हुई हैं।
– बल्लारी से कांग्रेस के वीएस उग्रप्पा जीत गए हैं।

एक नजर में चुनाव परिणाम:
– शिवमोग्गा लोकसभा सीट से भाजपा के बीवाई राघवेंद्र 52,148 के अंतर से जीते हैं।
– जमखंडी से कांग्रेस उम्मीदवार आनंद न्यामेगौड़ा 39,480 वोटों से विजयी हुए हैं।
– मंड्या लोकसभा सीट से जनता दल (एस) के शिवरामे गौड़ा ने 324,943 वोटों के अंतर से जीत हासिल की।
– रामनगर विधानसभा सीट से जनता दल (एस) प्रत्याशी अनिता कुमारस्वामी 109,137 वोटों से जीती हैं।
– बल्लारी लोकसभा सीट से कांग्रेस के वीएस उग्रप्पा 243,161 वोटों के अंतर से जीते हैं।

चुनाव परिणाम आने के बाद विजेताओं के समर्थक खुशियां मना रहे हैं। उक्त पांचों सीटें अलग-अलग कारणों से रिक्त हो गई थीं जिन पर शनिवार को उपचुनाव हुआ। विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद बल्लारी से भाजपा सांसद बी. श्रीरामुलू के इस्तीफे के बाद यह सीट खाली हो गई थी। यहां से उनकी बहन जे. शांता भाजपा उम्मीदवार थीं।

शिवमोग्गा से विधानसभा चुनाव जीतने के बाद बीएस येड्डीयुरप्पा ने अपनी संसदीय सीट से इस्तीफा दिया और शिवमोग्गा में उपचुनाव कराया गया। मंड्या के पूर्व सांसद सीएस पुट्टाराजू ने बतौर जनता दल (एस) उम्मीदवार विधानसभा चुनाव जीता था। इसलिए उन्होंने संसदीय सीट से इस्तीफा दिया।

इसके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री और पूर्व विधायक सिद्दू न्यामेगौड़ा की मृत्यु होने के कारण जमखंडी विधानसभा सीट खाली हो गई थी। जमखंडी से भाजपा ने श्रीकांत कुलकर्णी को टिकट दिया था। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने रामनगर विधानसभा सीट से इस्तीफा दे दिया था। इसलिए वहां उपचुनाव कराया गया। यहां से भाजपा ने चंद्रशेखर को टिकट दिया जो उपचुनाव से दो दिन पहले कांग्रेस में चले गए ​थे।

बल्लारी लोकसभा सीट से भाजपा ने बतौर उम्मीदवार जे. शांता को मैदान में उतारा था। शिवमोग्गा से बीएस येड्डीयुरप्पा के बेटे बीवाई राघवेंद्र उम्मीदवार थे। यहां से जनता दल (एस) ने मधु बंगारप्पा को टिकट दी थी।