जनता कर्फ्यू के दौरान ‘दक्षिण भारत’ के पाठकों ने प्रधानमंत्री की अपील का यों पालन किया

396

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कोरोना वायरस से ग्रसित समूचे भारत में बचाव के प्रयास चल रहे हैं। केंद्र से लेकर राज्य सरकारें अपने अपने स्तर पर कोरोना को रोकने के लिए प्रयास कर रही हैं। रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील पर पूरे भारत में जनता ने स्वेच्छा से जनता कर्फ्यू का पालन किया तथा यह अभियान पूरी तरह से सफल रहा। इस अभियान को दक्षिण भारत राष्ट्रमत ने भी अपना समर्थन दिया और अपनी तरफ से इसे अनूठे ढंग से प्रचारित किया। दक्षिण भारत उन पाठकों को धन्यवाद देना चाहता हैं जिन्होंने जनता कर्फ्यू में पूर्ण सहयोग किया तथा कोरोना की रोकथाम संबंधी जागरुकता बढ़ाने में अपनी भागीदारी निभाई।

‘दक्षिण भारत’ ने अभियान को समर्थन देने वालों को प्रोत्साहन देने के लिए उनकी फोटो अखबार में छापने का निर्णय लिया था तथा पाठकों से फोटो आमंत्रित की थी। दक्षिण भारत को इस अभियान का अच्छा रेस्पांस मिला और ब़ड़ी संख्या में लोगों ने कोरोना फाइटरों जैसे डाक्टरों, पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों, पत्रकारों को धन्यवाद देने के लिए तालियां बजाते समय ली गई अपनी फोटो, जनता कर्फ्यू के दौरान अपने परिवार के साथ बिताए फुर्सत के पल जैसे कि धार्मिक अनुष्ठान करते हुए, ध्यान करते हुए, सामायिक करते हुए, खेलते हुए, परिवार जनों से बतियाते हुए, टीवी देखते हुए, खाना बनाते हुए, घरेलू कार्य करते हुए आदि अनेक गतिविधियों की फोटो भेजी। दक्षिण भारत ने अपने पाठकों द्वारा भेजी गई सभी अच्छी फोटो लगाने का प्रयास किया है। आप आज के अंक में ये फोटो देख सकते हैं। कुछेक फोटो अप-टू-दि मार्क न होने के कारण हम उन्हें प्रकाशित नहीं कर सके। अखबार ने पाठकों से जनता कर्फ्यू के समय की गई गतिविधियों की फोटो मंगवाईं थी परन्तु कुछेक पाठकों ने फोटो की जगह वीडियो तथा कुछेक ने अपनी सिंंगल पासपोर्ट स्टाइल फोटो भेजी हैं जो कि हम प्रकाशित करने में असमर्थ रहे। हम एक बार फिर अपने सभी पाठकों को धन्यवाद देते हैं कि उन्होंने हमारे निवेदन पर गौर किया और प्रधानमंत्री के अभियान में अपनी भागीदारी निभाई। दक्षिण भारत अपने पाठकों से अपील करता है कि कोरोना वायरस के बचने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों का समर्थन करें और अपने अपने परिवार के साथ अपने घरों में सुरक्षित रहें तथा अपना स्वयं का व अपनों का बचाव करें।