logo
कर्नाटक: 10वीं कक्षा की परीक्षा के बारे में सरकार ने की बड़ी घोषणा
 
कर्नाटक: 10वीं कक्षा की परीक्षा के बारे में सरकार ने की बड़ी घोषणा
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक सरकार ने शुक्रवार को 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए महत्वपूर्ण घोषणा की। इसके अनुसार, एसएसएलसी या 10वीं की परीक्षाएं जुलाई के तीसरे सप्ताह में होंगी। वहीं, कोरोना महामारी के कारण पैदा हालात को देखते हुए ‘प्री-यूनिवर्सिटी एग्जाम’ (पीयूएस) की द्वितीय वर्ष की परीक्षाओं को रद्द किया गया है।

यह जानकारी कर्नाटक के प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार ने दी है। यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि इस साल पीयूएस की परीक्षाएं नहीं होंगी। उन्होंने कहा कि अंक जिला स्तर पर पहली ‘प्री-यूनिवर्सिटी परीक्षा’ में प्रदर्शन के आधार पर दिए जाएंगे।

मंत्री ने बताया कि दूसरे वर्ष के ‘प्री-यूनिवर्सिटी’ कॉलेज विद्यार्थियों को अगले स्तर पर प्रोन्नत कर दिया जाएगा। हालांकि जो विद्यार्थी अपने अंकों से संतुष्ट न हों, वे बाद में दोबारा परीक्षा दे सकेंगे।

मंत्री ने बताया कि सरकार ने ‘सेकंडरी स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट’ (एसएसएलसी) परीक्षा या 10वीं की परीक्षा करने का फैसला किया है। ये परीक्षाएं जुलाई के तीसरे सप्ताह में होंगी। इसमें गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान के लिए एक बहुविकल्पीय प्रश्नपत्र और भाषाओं के लिए एक और प्रश्नपत्र होगा।

मंत्री ने बताया कि बहुविकल्पीय प्रश्नपत्र 40 अंकों के होंगे। इनके सवाल सीधे एवं स्पष्ट होंगे और कोई भी घुमावदार सवाल नहीं होगा। इसी प्रकार, कोरोना प्रभावित विद्यार्थियों के लिए पूरक परीक्षाएं भी आयोजित की जाएंगी।