logo
भ्रष्टाचार के खिलाफ मंत्री निरानी का सख्त रुख, 2 अधिकारियों को किया निलंबित
 
भ्रष्टाचार के खिलाफ मंत्री निरानी का सख्त रुख, 2 अधिकारियों को किया निलंबित
निलंबित अधिकारी बीएम लिंगराजू।

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। खान एवं भूविज्ञान मंत्री मुरुगेश निरानी ने अपने विभाग के दो वरिष्ठ अधिकारियों के निलंबन का आदेश देकर भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त रुख अपनाया है। मंत्री ने बागलकोट जिले में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने और अवैध गतिविधियों को बढ़ावा देने के आरोपी दो अधिकारियों के खिलाफ खनन कंपनियों से लिखित शिकायत मिलने के बाद कार्रवाई की है।

मंत्री ने 16 फरवरी को अधिकारियों एवं खनन कंपनियों के मालिकों के साथ बैठक की और दोनों वरिष्ठ अधिकारियों को निलंबित करने के आदेश जारी किए। अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार और अन्य अनियमितताओं में शामिल होने के गंभीर आरोप हैं।

आरोपी अधिकारी बीएम लिंगराजू, उपनिदेशक, खान और भूविज्ञान विभाग, चित्रदुर्गा और फैयाज अहमद शेख, भूविज्ञानी, उपनिदेशक कार्यालय, खान और भूविज्ञान विभाग, बागलकोट हैं। बीएम लिंगराजू पर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने और खनन करने वाली कंपनियों के मालिकों को परेशान करने का आरोप लगाया गया था, जब वह 26 अक्टूबर, 2016 से 3 सितंबर, 2018 तक बागलकोट में खान और भूविज्ञान विभाग के उपनिदेशक (प्रभारी) के रूप में कार्यरत था।

मंत्री के निर्देश के बाद, रमेश डीएस, निदेशक, खान और भूविज्ञान विभाग ने अतिरिक्त मुख्य सचिव (एमएसएमई और खान), वाणिज्य और उद्योग विभाग को बीएम लिंगराजू को 16 फरवरी से तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की सिफारिश की है।

इसी प्रकार फैयाज अहमद शेख को भी 16 फरवरी से ही निलंबित कर दिया गया है। फैयाज 25 सितंबर, 2014 से बागलकोट में कार्यरत था। उस पर भी खनन कंपनियों के मालिकों को परेशान करने और बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप है। उसके खिलाफ वि​भागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। दोनों अधिकारियों पर अवैध गतिविधियों को प्रोत्साहित करने और जनता को परेशान करने का भी आरोप है।

मुरुगेश निरानी ने दोनों अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश के साथ भ्रष्ट अधिकारियों को कड़ा संदेश दिया है।