मेंगलूरु/भाषा। दक्षिण कन्नड़ जिले के प्रभारी मंत्री कोटा श्रीनिवास पुजारी ने गुरुवार को बताया कि जिला वेनलॉक अस्पताल को कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए समर्पित अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है।

यहां संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात को देखते हुए वेनलॉक की 250 बिस्तरों वाली सुपर स्पेशियालिटी शाखा को कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए समर्पित अस्पताल बनाया गया है।

20 बिस्तरों वाले आयुष ब्लॉक में वायरस संक्रमण के संदिग्ध मरीजों का इलाज होगा। फिलहाल अस्पताल में अन्य बीमारियों से पीड़ित जिन मरीजों का इलाज चल रहा है, उन्हें अगले तीन दिन में विभिन्न निजी अस्पतालों में स्थानांतरित किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि निजी अस्पताल में इन मरीजों के इलाज के खर्च सरकार वहन करेगी। अस्पताल के वार्ड में उपलब्ध 705 बिस्तरों का उपयोग चरणबद्ध तरीके से कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए होगा।

उन्होंने कहा कि ओपीडी के लिए आने वाले मरीजों को आसपास के मेडिकल कॉलेजों मे भेजा जाएगा। अस्पताल के शिशु वार्ड में फिलहाल 140 बच्चों का इलाज चल रहा है, उन सभी को पास के मेडिकल कॉलेज में स्थानांतरित किया जाएगा।

पुजारी ने बताया कि फिलहाल वेनलॉक अस्पताल में कोरोना वायरस संक्रमित पांच मरीजों तथा 140 संदिग्ध मरीजों का इलाज चल रहा है।