logo
कर्नाटक: महत्वपूर्ण पदों पर फेर-बदल की तैयारी, ये नियुक्तियां समाप्त
 
कर्नाटक: महत्वपूर्ण पदों पर फेर-बदल की तैयारी, ये नियुक्तियां समाप्त
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई। फोटो स्रोत: फेसबुक पेज।

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। बसवराज बोम्मई के मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद कर्नाटक में महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्तियों को लेकर फेर-बदल की तैयारी है। इसके तहत पूर्व मुख्यमंत्री येडियुरप्पा के शासन काल में की गईं सभी महत्वपूर्ण नियुक्तियों को समाप्त किया गया है।

कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार विभाग (डीपीएआर) की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार, पिछली सरकार में विभिन्न पदों पर लगाए 19 लोगों को हटाया गया है।

एक अगस्त और दो अगस्त के आदेशों में कहा गया है कि येडियुरप्पा के 26 जुलाई को इस्तीफा देने के साथ, मंत्रिपरिषद भी अपने आप भंग हो गई है। परिणामस्वरूप, येडियुरप्पा के कार्यकाल के दौरान उनके या उपमुख्यमंत्रियों या मंत्रियों द्वारा जो भी नियुक्तियां की गईं, वे भी समाप्त हो गई हैं।

क्या कहा गया आदेश में?
एक अगस्त के आदेश के अनुसार, येडियुरप्पा के सलाहकार एम लक्ष्मीनारायण और शिक्षाविद् एमआर दोरेस्वामी अब शिक्षा सुधार पर सरकार के सलाहकार के रूप में काम नहीं करेंगे।

इसी तरह बेलुरु सुदर्शन को मुख्यमंत्री के ई-गवर्नेंस सलाहकार के पद से मुक्त कर दिया गया है। नीति और रणनीति पर मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रशांत प्रकाश और कानूनी सलाहकार मोहन लिम्बिकई को भी जिम्मेदारी से मुक्त किया गया है।

नई दिल्ली में कर्नाटक के विशेष प्रतिनिधि शंकरगौड़ा पाटिल को भी हटा दिया गया है। वहीं, येडियुरप्पा के तीन राजनीतिक सचिव एमपी रेणुकाचार्य, डीएन जीवराज और एनआर संतोष की भी छुट्टी कर दी गई है। बता दें कि मुख्यमंत्री बोम्मई ने 2000 बैच के आईएएस अधिकारी वी पोन्नूराज को अपना सचिव बनाया है।

ये भी हटाए गए
इसके अलावा, 2 अगस्त के आदेश के अनुसार, उपमुख्यमंत्रियों द्वारा की गईं सभी संविदा नियुक्तियों और सलाहकार पदों पर नियुक्तियों को रद्द कर दिया गया है। सभी सरकारी अधिकारी जो मंत्रियों, उपमुख्यमंत्रियों और मुख्यमंत्री के साथ काम करने के लिए प्रतिनियुक्ति पर आए थे, उन्हें कर्तव्यों से मुक्त कर दिया गया है। उन्हें तत्काल प्रभाव से अपने मूल विभागों को वापस रिपोर्ट करने का निर्देश दिया है।