बेंगलूरु/भाषा। कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से प्रस्तावित जनता कर्फ्यू का रविवार को कर्नाटक में लोगों ने पालन किया। राज्य में आवाजाही बंद दिखाई दी और राजधानी बेंगलूरु समेत अन्य स्थानों पर सड़कें बिल्कुल खाली नजर आईं।

प्रधानमंत्री की ओर से प्रस्तावित ‘जनता कर्फ्यू’ पहल का राज्य के निवासियों ने स्वागत किया। एक रिपोर्ट के अनुसार, बेंगलूरु, कलबुर्गी, चिकमगलूरु, कोडगु, मैसूरु और धारवाड़ जिलों में लॉकडाउन किया गया है। केवल जरूरी वस्तुओं से जुड़ीं सेवाएं ही जारी रहेंगी। सार्वजनिक यातायात बंद रहेगा।

इस दौरान राजनेता, अधिकारी से लेकर आमजन सोशल मीडिया के जरिए जागरूकता के संदेशों का आदान-प्रदान करते रहे। लोगों ने स्वच्छता और एहतियात का पालन किया। शहरों में पानी में किटाणुनाशक मिलाकर घरों की सफाई की गई ताकि कोरोना के संक्रमण से बचा जाए।

https://platform.twitter.com/widgets.js

रेल और सार्वजनिक परिवहन सेवाएं बंद होने से लोगों को कुछ दिक्कत तो हुई लेकिन सभी ने इस पहल का समर्थन करते हुए कहा कि हम सबके स्वास्थ्य की रक्षा के लिए यह जरूरी है। इस दौरान लोगों की नजरें घड़ी की सुई की ओर रहीं कि शाम के पांच बजते ही उन चिकित्साकर्मियों के सम्मान में खड़े होंगे जो अपनी जान जोखिम में डालकर कोरोना को हराने में जुटे हैं।