logo
तमिलनाडु: सिंगारा चेन्नई 2.0 परियोजना के लिए 500 करोड़ रुपए आवंटित
 
तमिलनाडु: सिंगारा चेन्नई 2.0 परियोजना के लिए 500 करोड़ रुपए आवंटित
भारतीय मुद्रा। फोटो स्रोतः PixaBay

चेन्नई/दक्षिण भारत। तमिलनाडु में शुक्रवार को पेश किए गए संशोधित वित्तीय बजट में चेन्नई के लिए कुछ बड़ी घोषणाएं की गई हैं। इस संबंध में वित्त मंत्री पीटीआर पलानीवेल त्यागराजन ने बताया कि सिंगारा चेन्नई 2.0 परियोजना को स्वच्छ और हरित चेन्नई पर जोर देने के साथ शुरू किया जाएगा। परियोजना के लिए 500 करोड़ रुपए दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि चेन्नई बिना वॉल पोस्टर वाला शहर बनेगा। आंध्र प्रदेश से चेन्नई के जलाशयों तक कृष्णा नदी के पानी को पाइपलाइनों के जरिए पहुंचाने के लिए सुसंगत रिपोर्ट तैयार की जाएगी। इसी तरह, चेन्नई शहर के सभी अतिरिक्त क्षेत्रों में 2,056 करोड़ रुपए की लागत से भूमिगत सीवरेज प्रणाली तैयार की जाएगी।

होंगे ये निर्माण
मंत्री ने बताया कि चेन्नई में जलमार्गों में सीवेज के बाहर बहाव को रोकने की योजना को 2,371 करोड़ रुपए की लागत से लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चेन्नई शहर में 3 जगहों गणेशपुरम मेट्रो, कोन्नूर हाई रोड – स्ट्रैहंस रोड के चौराहे पर और साउथ उस्मान रोड पर 335 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से नए फ्लाईओवर और ओवर ब्रिज का निर्माण किया जाएगा।

मेट्रो परियोजना
मंत्री ने कहा कि सरकार मेट्रो रेल परियोजना के विस्तार को हवाईअड्डे से तांबरम होते हुए किलाम्बक्कम बस टर्मिनस तक ले जाएगी। वित्त मंत्री ने यह भी घोषणा की कि चेन्नई में नंदमबक्कम और कवनूर में फिनटेक शहर दो चरणों में विकसित किया जाएगा। पहले चरण का विकास 165 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से नंदमबक्कम में किया जाएगा।

दिसंबर 2026 तक दूसरा चरण
मंत्री ने बताया कि मेट्रो रेल परियोजना के कोडंबक्कम से पूनमल्ली बाय-पास खंड पर सेवाएं जून 2025 तक शुरू हो जाएंगी और पूरी मेट्रो रेल परियोजना का दूसरा चरण दिसंबर 2026 तक पूरा हो जाएगा।

पोर्ट ट्रस्ट का सहयोग
पलानीवेल ने कहा कि चेन्नई सिटी पार्टनरशिप प्रोग्राम जल्द ही विश्व बैंक और एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक की सहायता से शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चेन्नई में कासिमेदु फिशिंग हार्बर को चेन्नई पोर्ट ट्रस्ट के सहयोग से 150 करोड़ रुपए की कुल लागत से अपग्रेड किया जाएगा।

मंत्री ने कहा कि एडीबी द्वारा सहायता प्राप्त चेन्नई कन्याकुमारी औद्योगिक कॉरिडोर (सीकेआईसी) पावर सेक्टर निवेश परियोजना के तहत, टैंजेडको और टैंट्रान्सको के शासन और वित्तीय पुनर्गठन का रणनीतिक अध्ययन किया जाएगा।