logo
केरल में एलडीएफ और यूडीएफ के बीच ‘मैच फिक्सिंग’: मोदी
 
केरल में एलडीएफ और यूडीएफ के बीच ‘मैच फिक्सिंग’: मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केरल के पलक्कड़ में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।

पलक्कड़/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को केरल के पलक्कड़ में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने एलडीएफ और यूडीएफ पर जोरदार हमला बोलते हुए दोनों के बीच ‘मैच फिक्सिंग’ होने का आरोप लगाया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे पलक्कड़ आने की खुशी है। यहां से राज्य में अपनी पहली रैली को संबोधित कर रहा हूं। पलक्कड़ के लोगों का हमारी पार्टी के साथ करीबी रिश्ता रहा है। आज, मैं आपके बीच आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा के लिए आपका आशीर्वाद लेने आया हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में, केरल की राजनीति एक बड़ी बदलाव देख रही है। यह बदलाव युवाओं की आकांक्षाओं से प्रेरित हो रहा है, विशेषकर राज्य में पहली बार वोट डालने वाले मतदाता।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कई वर्षों तक, केरल की राजनीति का सबसे खराब रहस्य यूडीएफ और एलडीएफ का दोस्ताना समझौता था। अब, केरल में पहली बार वोट डालने वाला मतदाता पूछ रहा है- यह मैच फिक्सिंग क्या है?

प्रधानमंत्री ने कहा कि एलडीएफ के बारे में यह कहा जा सकता है: जुडास ने चांदी के कुछ टुकड़ों के लिए यीशु मसीह को धोखा दिया। एलडीएफ ने केरल को सोने के कुछ टुकड़ों के लिए धोखा दिया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केरल के लिए भाजपा की दृष्टि दूरगामी और आकांक्षी है। इसीलिए, राज्य के युवा, राज्यभर के पेशेवर समुदाय खुलकर भाजपा का समर्थन कर रहे हैं। पूरे भारत में भी इस प्रवृत्ति को देखा जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यूडीएफ और एलडीएफ द्वारा सड़क-ब्लॉकों की बड़ी संख्या ने विकास को धीमा कर दिया है। इसीलिए, केरल में तेजी से विकास का समय आ गया है, जिसका वादा भाजपा करती है।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने ‘फास्ट’ (एफएएसटी) के हर अक्षर का अर्थ बताते हुए कहा कि एफ: मत्स्य पालन और उर्वरक, ए: कृषि और आयुर्वेद, एस: कौशल विकास और सामाजिक न्याय, टी: पर्यटन और टेक्नोलॉजी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार कृषि के विकास और किसानों के कल्याण के लिए कई कदम उठा रही है। कई वर्षों, सरकारों ने एमएसपी में बढ़ोतरी का वादा किया था लेकिन यह हमारी सरकार थी जिसे किसानों के लिए एमएसपी बढ़ाने का सम्मान मिला था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार के कौशल विकास प्रयासों का उद्देश्य युवा सशक्तीकरण को आगे बढ़ाना है। केंद्र में राजग के कार्यभार संभालने के बाद, अधिक आईआईटी बनाए गए हैं, और अधिक आईटीआई बनाए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब हम कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने और सड़क बुनियादी ढांचे के निर्माण की दिशा में काम करेंगे, तो यह स्वाभाविक रूप से पर्यटन को बढ़ावा देगा। पिछले सात वर्षों में, भारत ने यात्रा और पर्यटन प्रतिस्पर्धा रैंकिंग में अपनी स्थिति में सुधार किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केरल और पर्यटन का गहरा संबंध है। अफसोस की बात है कि यूडीएफ और एलडीएफ ने यहां पर्यटन के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए बहुत कुछ नहीं किया है। एलडीएफ सरकार को निर्दोष श्रद्धालुओं पर लाठियों की बौछार करने में शर्म आनी चाहिए। यूडीएफ को भी शर्म आनी चाहिए, चूंकि जब यह हो रहा था तो वह मौन थी। मुझे ऐसी पार्टी से संबंधित होने पर गर्व है, जो हमारी भूमि की संस्कृति की रक्षा करेगी और हमेशा करेगी।

मैं एलडीएफ और यूडीएफ को बताना चाहता हूं: यदि आप हमारी संस्कृति को अपशब्द कहेंगे, तो हम मूकदर्शक नहीं रहेंगे। हमारी राज्य इकाई के अध्यक्ष सुरेंद्रनजी को केरल सरकार द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया और उनके साथ बुरा व्यवहार किया गया। उनका अपराध क्या था? उन्होंने केरल की परंपराओं के लिए आवाज उठाई थी?

प्रधानमंत्री ने कहा कि वामपंथी दल यहां कई बार सत्ता में रहे हैं, लेकिन उनके नेता अभी भी जूनियर स्तर के गुंडों या पार्टी के नेताओं की तरह व्यवहार करते हैं। उनकी आंखों के नीचे और उनके आशीर्वाद से, राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को मार दिया जाता है, काट दिया जाता है, पीटा जाता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र में हमारे राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन हिंसा स्वीकार्य नहीं है। भाजपा के कई युवा कार्यकर्ताओं ने अपनी जान गंवाई है। केरल में भाजपा सरकार हिंसा की इस संस्कृति को रोकेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केरल के युवा बदलाव चाहते हैं। भाजपा इस बदलाव का भरोसा दिलाती है। जब आप 6 तारीख को वोट डालें, तो सुशासन और विकास के लिए वोट डालें। ऐसी सरकार को वोट दें, जो शांति और समृद्धि की गारंटी दे। प्रधानमंत्री ने भाजपा के पक्ष में वोट डालने की अपील की।