प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

शिवमोग्गा/दक्षिण भारत। जिले के सागर के एक युवक हासम फरीद की कुवैत में रहस्यमय परिस्थितियों में मौत मामले में उसके परिजन और शिवमोग्गा शांति संगठन ने केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि वह इसकी जांच कराए।

परिजन का आरोप है कि फरीद के बिस्तर पर खून के धब्बे मिले था। वहीं, कुवैत पुलिस का दावा है कि उसने समुद्र में कूदकर आत्महत्या की और वहीं उसका शव मिला था।

मृतक के एक रिश्तेदार ने बताया कि वह करीब डेढ़ साल से कुवैत की एक फूड डिलिवरी कंपनी में काम कर रहा था। परिजन ने 27 दिसंबर को फोन पर उससे संपर्क की कोशिश की थी।

फरीद के एक सहकर्मी ने बताया कि उसने ‘आत्महत्या’ कर ली है। इसके बाद परिजन ने फरीद के दोस्तों को फोन किया जो कुवैत में हैं। दावे के मुताबिक, जब उन्होंने फरीद के कमरे में बिस्तर को देखा तो वहां खून के धब्बे मिले।

इससे परिवार को शक है कि फरीद ने आत्महत्या नहीं की, बल्कि उसकी हत्या की गई है। इसके लिए परिजन ने शिवमोग्गा के उपायुक्त और सागर के सहायक आयुक्त को पत्र लिखकर उनकी मांग केंद्र तक पहुंचाने के लिए आग्रह किया है।

परिजन ने सरकार से मांग की है कि वे हस्तक्षेप कर कुवैत सरकार से मामले की जांच करने के लिए कहें। उन्होंने राज्य सरकार और मुख्यमंत्री से मांग की है कि उन्हें इंसाफ दिलाया जाए।

मामले पर उपायुक्त केबी शिवकुमार ने कहा कि परिवार द्वारा सौंपा गया ज्ञापन गृह मंत्रालय को भेज दिया गया है। सरकार इस संबंध में आगामी कार्यवाही करेगी।