प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। आर्थिक गतिविधियां शुरू होने के साथ ही ट्रांसपोर्ट क्षेत्र के लिए राहत की खबर है। एक रिपोर्ट के अनुसार, बसों में यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी है। इस संबंध में बस टिकटिंग प्लेटफॉर्म रेडबस ने आंकड़े साझा किए हैं।

दो अक्टूबर के बाद सप्ताहांत में, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात और पश्चिम बंगाल ने देश में यात्रा की अधिकतम मांग दर्ज की, जबकि यात्रियों द्वारा पसंद किए जाने वाले शीर्ष गंतव्य बेंगलूरु, हैदराबाद, चेन्नई, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और अहमदाबाद थे।

कंपनी ने बताया कि बेंगलूरु-हैदराबाद, दिल्ली-चंडीगढ़, हैदराबाद-विजयवाड़ा, आसनसोल- कोलकाता और गोरखपुर-दिल्ली शीर्ष पांच मार्ग हैं जहां उसकी बुकिंग में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई।

कंपनी ने बताया कि उसके ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म ने ‘प्रथम बार ग्राहकों’ द्वारा लेनदेन में लगभग दोगुनी वृद्धि दर्ज की गई है। यह आंकड़ा पूर्व-कोविड समय के 11 प्रतिशत से 21 प्रतिशत तक पहुंच गया है।

कंपनी के अनुसार, एक और दिलचस्प प्रवृत्ति टियर-2 और टियर-3 शहरों में देखी गई है। इसके नतीजे में वर्तमान बुकिंग में लगभग 67 प्रतिशत योगदान शामिल है, क्योंकि ये लोग आर्थिक गतिविधियों में तेजी आने के बाद अपने कार्यक्षेत्रों की ओर लौट रहे हैं। कोरोना प्रसार से पहले यह 56 प्रतिशत था।

रेडबस ने बताया कि बेंगलूरु, जयपुर, गोरखपुर, इंदौर, विशाखापत्तनम, कलबुर्गी, राजकोट, मालदा और गुवाहाटी के अलावा टियर-2 और टियर-3 शहरों में से कुछ में बस यात्रा की ऊंची मांग है।