अन्य दलों में शामिल होने वाले कार्यकर्ता रजनीकांत के समर्थक बने रहेंगे: आरएमएम

अभिनेता रजनीकांत। फोटो स्रोत: ट्विटर अकाउंट।
अभिनेता रजनीकांत। फोटो स्रोत: ट्विटर अकाउंट।

चेन्नई/दक्षिण भारत। रजनी मक्कल मंदरम (आरएमएम) के तीन जिला सचिवों द्वारा रविवार को द्रमुक में शामिल होने के बाद हो रही आलोचना पर आरएमएम के कार्यवाहक वीएम सुधाकर ने सोमवार को कहा कि उक्त लोग पार्टी बदलने के फैसले के बावजूद रजनी के समर्थक बने रहेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि यदि आरएमएम के सदस्य किसी भी राजनीतिक दल में शामिल होना चाहते हैं तो वे अपने पद से इस्तीफा देने के बाद ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं।

इसके साथ ही वे सभी रजनी प्रशंसकों से उनकी राजनीतिक गतिविधियों के लिए तीनों की आलोचना करने का एक अप्रत्यक्ष अनुरोध करते हुए भी दिखाई दिए।

गौरतलब है कि पिछले दो दिनों से यह मामला सोशल मीडिया पर छाया हुआ है और रजनीकांत के प्रशंसकों द्वारा तीनों को धोखेबाज करार दिए जाने के बाद उनका यह बयान आया है।

मालूम हो कि गत 29 दिसंबर को अभिनेता रजनीकांत द्वारा कोरोना महामारी के कारण राजनीति में प्रवेश नहीं करने के बाद मदुरई और तिरुवल्लूर जिले से उनके कुछ प्रशंसक भाजपा और अन्नाद्रमुक में शामिल हो गए थे।

इसके बाद जब रजनी ने 11 जनवरी को इस मुद्दे पर अपना दूसरा बयान जारी किया और अपने फैसले को दोहराया तब प्रशंसकों ने वल्लुवर कोट्टम में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन भी किया और उन्हें अपने फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया।

रजनी ने कहा कि मैं अपने प्रशंसकों से भविष्य में इस तरह की घटनाएं नहीं दोहराने और मुझे राजनीति में प्रवेश करने के लिए मजबूर न करने का अनुरोध करता हूं।