शिव नडार विवि
शिव नडार विवि

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। शिव नडार फाउंडेशन ने गुरुवार को उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अपनी तीसरी पहल ‘शिव नडार विश्वविद्यालय, चेन्नई’ की शुरुआत की घोषणा की। यह विवि कलवक्कम में एक विशाल परिसर में होगा।

यह अकादमिक और अनुसंधान, अत्याधुनिक क्रिकेट स्टेडियम, पुस्तकालय, खेल केंद्र, छात्रावास, संकाय आवास परिसर, सभागार, गेस्ट हाउस और 24/7 इंटरनेट सहित विश्व स्तरीय सुविधाओं से युक्त होगा।

नए विवि की घोषणा एचसीएल टेक्नोलॉजीज की चेयरपर्सन और शिव नडार फाउंडेशन की अध्यक्ष रोशनी नडार मल्होत्रा ने की। इस अवसर पर शिव नडार विवि, चेन्नई के चांसलर आर श्रीनिवासन और प्रो-चांसलर डॉ. कला विजयकुमार भी उपस्थित थे।

इस विवि में आरबीआई के पूर्व गवर्नर डॉ. सी. रंगराजन और विख्यात कम्प्यूटर वैज्ञानिक डॉ. राज रेड्डी भी सम्मानित शिक्षक होंगे। विवि ने वाइस चांसलर के पद पर एक आईआईटी के प्रसिद्ध शिक्षाविद् को नियुक्त किया है जो दिसंबर में पद संभालेंगे।

इसके अलावा, विवि ने डॉ. टी. नागराजन को कम्प्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर एवं प्रमुख और प्रो. एस. गुरुसामी को प्रोफेसर और वाणिज्य विभाग, स्कूल ऑफ कॉमर्स एंड मैनेजमेंट के प्रमुख के तौर पर नियुक्त करने की घोषणा की है।

इस अवसर पर रोशनी नडार मल्होत्रा ने कहा, ‘मेरे पिता शिव नडार शिक्षा के उत्पाद हैं और लोगों के जीवन को बदलने के लिए अपनी शक्ति में दृढ़ता से विश्वास रखते हैं। शिव नडार फाउंडेशन राष्ट्र निर्माण में योगदान के लिए बनाया गया है। फाउंडेशन पिछले 26 वर्षों से इस यात्रा पर है और हमारे संस्थान इस बात को साबित कर रहे हैं कि कैसे शिक्षा व्यक्ति और समाज में सकारात्मक बदलाव ला सकती है।

विवि के संस्थापक चांसलर आर. श्रीनिवासन ने कहा, ‘विश्वविद्यालय प्रभावी तरीके से विद्यार्थियों के समग्र विकास पर ध्यान केंद्रित करेगा जो अकादमिक प्रतिबद्धता, अनुसंधान की संस्कृति और निरंतर प्रयास की भागीदारी को बढ़ाता है।’

डॉ. कला विजयकुमार ने कहा, ‘विवि उन कार्यक्रमों की पेशकश करेगा जो विद्यार्थियों को एक विकसित दुनिया में आवश्यक कौशल के साथ तैयार करेंगे। पाठ्यक्रम को वैश्विक सर्वोत्तम मानकों पर तैयार किया गया है।