एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी
एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी

कट्टनकुलातुर। उद्योग जगत और उच्चतर शिक्षण संस्थानों के बीच बेहतर ताल-मेल बनाने की कोशिशों के तहत एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (एसआरएमआईएसटी) गुरुवार को फेडरेशन ऑफ इंडियन चेंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के सहयोग से कोरोना काल में उभरते आर्थिक परिदृश्य पर एक वैश्विक आभासी सत्र का आयोजन करने जा रहा है।

यह आभासी सत्र गुरुवार सुबह 10 से दोपहर 2 तक आयोजित किया जाएगा। इसके दो भाग होंगे। पहले भाग ‘नई वैश्विक व्यवस्था’ का उद्घाटन केंद्रीय वाणिज्य उद्योग और रेल मंत्री पीयूष गोयल करेंगे। दूसरे सत्र में आधुनिक युग में आपसी सहयोग से सीखने के ढांचे पर विचार किया जाएगा। उम्मीद जताई गई है कि केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री, रमेश पोखरियाल इस सत्र को मुख्य रूप से संबोधित करेंगे।

संस्थान की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि इन सत्रों में उच्च शिक्षा विभाग के सचिव अमित खरे, सिंगापुर एनयूएस के अध्यक्ष डॉ. तान एंग च्ये, एसआरएमआईएसटी के चांसलर जैसे प्रतिष्ठित व्यक्तित्व मानव संसाधन विकास, डॉ. टी.आर पारिवेंद्र, फिक्की की अध्यक्ष और अपोलो अस्पताल की संयुक्त एमडी डॉ. संगीता रेड्डी, मणिपाल ग्लोबल एजुकेशन के अध्यक्ष मोहनदास पई और आईआईएम बेंगलूरु के प्रो. ऋषिकेश टी. कृष्णन के भाग लेने की उम्मीद जताई गई है।

वहीं, कार्यक्रम के पैनलिस्ट्स में रिलायंस, फ्यूचर ग्रुप, इंटेल, आईआईटी, आईआईएम, बिड़ला के प्रमुख कार्यकारी हिस्सा लेंगे। कई कंपनियों के सीईओ, सीएक्सओ, शीर्ष कॉर्पोरेट अधिकारी, नियामक, दुनिया भर के शिक्षाविदों, संकाय सदस्यों से इस कार्यक्रम का हिस्सा बनने की उम्मीद है।