प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा
प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने शनिवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सफल नेतृत्व में पंचायत से लेकर संसद तक चुनाव जीती है। उन्होंने इस जीत के लिए मोदी को श्रेय देते हुए कहा कि यह प्रधानमंत्री के सफल प्रयासों का ही फल था कि देश में किसानों की आय दुगुनी हो पाई।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘ग्राम पंचायत चुनावों में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों की अभूतपूर्व सफलता इस बात का प्रतीक है कि लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व और ग्राम विकास एवं अंत्योदय योजना पर संपूर्ण विश्वास प्रदर्शित किया है।’ उन्होंने बताया कि राज्य की 5,728 पंचायतों में से 3,800 पंचायतें ऐसी हैं जहां भाजपा समर्थित उम्मीदवारों ने बहुमत हासिल किया।

जारी रहेगी एमएसपी प्रणाली
मुख्यमंत्री येडियुरप्पा ने प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि एपीएमसी अधिनियम में किसानों के लिए अधिक विपणन के अवसर पैदा करने के लिए संशोधन किए गए हैं। किसानों को घबराने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने किसानों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि एमएसपी प्रणाली जारी रहेगी।

पुराने नियमों में सुधार की जरूरत
मुख्यमंत्री ने कृषि को वैश्विक रूप से प्रतियोगी बनाने के वास्ते कुछ पुराने नियमों एवं कानूनों में सुधार की जरूरत पर जोर देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने इन नियमों में बदलाव करने के लिए आवश्यक कदम उठाए हैं।

बता दें कि येडियुरप्पा ने बतौर मुख्यमंत्री किसानों के नाम पर शपथ ली थी और देश के इतिहास में पहली बार अलग कृषि बजट भी पेश किया था।

भ्रम फैला रहे विपक्ष के नेता
मुख्यमंत्री ने विपक्षी नेताओं पर किसानों को भ्रमित करने का आरोप लगाया और कहा कि वे सरकार की अनावश्यक आलोचना करके विकास के मार्ग में बाधा पैदा कर रहे हैं। उन्होंने केंद्र की प्रमुख योजनाओं ‘पीएम-किसान, जल जीवन मिशन, किसानों, मजदूरों, छोटे विक्रेताओं के लिए पेंशन स्कीम, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, उज्ज्वला योजना’ आदि का उल्लेख करते हुए कहा कि इन्हें प्रधानमंत्री मोदी ने शुरू किया और कर्नाटक सरकार इन्हें पूरी तरह लागू करने के लिए कटिबद्ध है।

उल्लेखनीय है कि कोरोना काल में उपजे मुश्किल हालात में भी कर्नाटक एफडीआई में अव्वल रहा है। यह 1.54 लाख करोड़ के एफडीआई प्रवाह के परिणामस्वरूप उद्योगों की स्थापना के लिए मंजूरियों साथ ऐसा पहला राज्य बना जिसने कई साहसिक सुधार किए।

सावधानी में न करें कोई कमी
मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को लेकर अपील की कि स्वच्छता और स्वास्थ्य की सुरक्षा से संबंधित नियमों का पालन करें, सावधानी में कोई कमी न करें। उन्होंने इस बात का भरोसा दिलाया कि विकास के क्षेत्र में सरकार कर्नाटक को देश का सर्वप्रमुख राज्य बनाने के लिए संकल्पबद्ध है।