तमिलनाडु: शशिकला से बात करने पर अन्नाद्रमुक ने 5 सदस्यों को निकाला

फोटो स्रोत: अन्नाद्रमुक का ट्विटर अकाउंट।
फोटो स्रोत: अन्नाद्रमुक का ट्विटर अकाउंट।

चेन्नई/दक्षिण भारत। अन्नाद्रमुक ने पांच सदस्यों के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। बताया गया कि ये पूर्व महासचिव वीके शशिकला के साथ कथित तौर पर संपर्क स्थापित करने की कोशिश कर रहे थे। इस फैसले को विपक्ष के नेता ईके पलानीस्वामी और विपक्ष उपनेता ओ पनीरसेल्वम ने मंजूरी दी।

पार्टी से निकाने गए लोगों में ए रामकृष्णन हैं जो सलेम जिले से छात्र विंग उपमहासचिव रहे हैं। इसी प्रकार आर सरवनन जो शिवगंगा जिले के पुरची थलाइवी अम्मा पेरवई उपमहासचिव थे, को निष्कासित कर दिया गया है। तिरुनेलवेली जिले के उपमहासचिव थिमराजपुरम राजगोपाल, एमजीआर मंदरम और तिरुनेलवेली जिले के छात्र विंग उपमहासचिव सुंदर राज को भी हटा दिया गया है।

अन्नाद्रमुक द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि उक्त पदाधिकारियों ने पार्टी के सिद्धांतों के विपरीत काम किया जिससे पार्टी का अपमान हुआ। चूंकि अन्नाद्रमुक में हाल में एक प्रस्ताव पारित कर उन सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी जो शशिकला से बातचीत करते हैं।

बता दें कि एक ऑडियो बातचीत में कथित तौर पर शशिकला ने द्रमुक को राज्यसभा सीट बर्बाद करने के लिए अन्नाद्रमुक की खिंचाई की थी। वे केपी मुनुसामी को एक साल पहले राज्यसभा सांसद बनाने के बावजूद 2021 के विधानसभा चुनावों में टिकट देने के पार्टी के फैसले का जिक्र कर रही थीं।

यह पहला मौका नहीं है जब अन्नाद्रमुक ने अपने सदस्यों को शशिकला के साथ बातचीत करने के आरोप में निकाला है। 14 जून को, अन्नाद्रमुक ने पूर्व मंत्री एम आनंदन और पूर्व सांसद वीके चिन्नासामी सहित 15 शीर्ष पदाधिकारियों को निष्कासित कर दिया था।

अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता डी जयकुमार ने कहा कि शशिकला की ‘फूट डालो और राज करो’ की कोशिश पार्टी में काम नहीं करेगी। उनकी यह टिप्पणी कई ऑडियो टेपों के सामने आने के बाद आई जिसमें शशिकला को कथित तौर पर पदाधिकारियों से बात करते हुए सुना गया।