प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

चेन्नई/दक्षिण भारत। जीएसटी और चेन्नई उत्तर के केंद्रीय उत्पाद शुल्क विभाग ने बुधवार को जीएसटी धोखाधड़ी के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। बताया गया कि इस संबंध में एक जानेमाने कारोबारी प्रतिष्ठान के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जो रेडीमेड कपड़े बेचता है।

वहीं, धोखाधड़ी करीब 10 करोड़ रुपए की बताई गई है। जानकारी के अनुसार, यह धोखाधड़ी फर्जी चालान के आधार पर की गई है, जबकि जीएसटी का भुगतान नहीं किया गया। विभाग ने इस मामले में प्रबंध निदेशक और दो अन्य प्रमुख व्यक्तियों को पकड़ा, जो पिछले एक महीने से भी ज्यादा समय से फरार थे।

इस बारे में जानकारी देते हुए अधिकारी ने बताया कि कंपनी को इस फर्जीवाड़े के लिए स्थापित फर्जी फर्मों द्वारा जारी नकली चालान मिले थे। ये कंपनियां इनवॉइस जारी करतीं, जैसे कि सामान खरीदने के लिए पैसे का भुगतान किया जाता है और उचित चैनलों के जरिए भुगतान भी किया जाता है। इसके बाद फर्जीवाड़े को अंजाम दिया जाता था। तीनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।