प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

रानीपेट/दक्षिण भारत। तमिलनाडु के रानीपेट में मानवता को शर्मसार करने देने वाला मामला सामने आया है। यहां दो लोगों को एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म और उसे गर्भवती करने के आरोप में पुलिस ने हिरासत में लिया है। इनमें से एक शख्स तो दो बच्चों का बाप भी है।

उक्त घटना तब की है जब कोरोना महामारी के मद्देनजर देश में लॉकडाउन जारी था। इस बारे में रानीपेट शहर की ऑल वुमन पुलिस ने बताया कि 15 वर्षीया पीड़िता द्वारा शिकायत पर गुरुवार को एफआईआर दर्ज की गई। इसके बाद पुलिस ने चिन्नम्मापेट के एस सतीश (21) और अथामंगलम पुधुर के एम एझुमलाई (46) को हिरासत में ले लिया।

पुलिस ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ पोक्सो अधिनियम, 2012 की विभिन्न धाराओं, जैसे सेक्शन 5, जे (2), आर/डब्ल्यू 6 के तहत मामला दर्ज किया गया है। दोनों आरोपियों को गुरुवार को वेल्लोर में पोक्सो मामलों की विशेष अदालत में पेश किया गया, जहां से जिला जेल अरक्कोणम में रिमांड के लिए भेज दिया गया।

बताया गया कि बच्ची अपनी मां के साथ भवन निर्माण कार्य के सिलसिले में मजदूरी करने जाती थी। सतीश पेशे से इलेक्ट्रीशियन और एझुमलाई मिस्त्री है। हाल में जब बच्ची की तबीयत खराब हो गई तो माता-पिता उसे डॉक्टर के पास ले गए। वहां पता चला कि बच्ची नौ माह से गर्भवती है।

इसके बाद परिवार की ओर से मामला दर्ज कराया गया। इंस्पेक्टर एडी वासुकी के नेतृत्व में टीम ने आरोपियों को दबोच लिया।