चेन्नई। अन्नाद्रमुक के दोनों ध़डों के बीच सोमवार को हुए विलय के कुछ घंटे बाद तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने ईके पलानीसामी मंत्रिमंडल में उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राजभवन में एक सादे समारोह में राज्यपाल सी विद्यासागर राव ने पन्नीरसेल्वम को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। पूर्व मुख्यमंत्री को उनका पिछला वित्त विभाग भी दिया गया है उन्हें वित्त मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय जैसे अहम मंत्रालय भी सौंपा गया है। इस क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पन्नीरसेल्वम तथा शपथ लेने वाले अन्य को बधाई दी और पलानीसामी तथा उनकी सरकार को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।ज्द्भध्यध्त्रय् ·र्ैंर्‍ फ्द्बय्यथ्झ्द्य झ्ब्रुैंघ्ष्ठ झ्स्त्रय्र्‍द्यफ्ष्ठत्प्द्बशपथ ग्रहण से पहले पन्नीरसेल्वम ने जयललिता की समाधि पर पहुंच कर श्रद्धांजलि अर्पित की। जयललिता को श्रद्धांजलि देने के दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री पलानीसामी भी मौजूद रहे। सूत्रों के अनुसार छह महीने में पहली बार अन्नाद्रमुक (पुरुचीतलवी अम्मा) गुट के प्रमुख ओ पन्नीरसेल्वम पार्टी मुख्यालय गए जहां उन्होंने अम्मा गुट के नेता एवं मुख्यमंत्री ई के पलानीसामी से मुलाकात की और औपचारिक रूप से पार्टी के दोनों गुटों का विलय हो गया। पार्टी मुख्यालय में ई पलानीसामी और ओ पन्नीरसेल्वम एक मंच पर नजर मौजूद रहे। पनीरसेल्वम के करीबी के पांडियराजन को तमिल सरकारी भाषा एवं तमिल संस्कृति मंत्री पद की शपथ दिलायी गई है।झ्य्ट्टर्‍श्च घ्ध्य्द्मष्ठ ·र्ष्ठैं ्यध्ॅ द्धद्मर्‍ ब्स् फ्द्ब़प्द्भ फ्यद्ब्यत्रविलय के बाद पार्टी को चलाने के लिए ११ सदस्यीय समन्वय समिति बनाई गई है। पन्नीरसेल्वम पार्टी की समन्वय समिति के संयोजक होंगे। पार्टी में संयुक्त संयोजक के रूप में पलानीसामी होंगे। विलय के बाद पार्टी का मुख्य लक्ष्य अन्नाद्रमुक पार्टी का चुनावी चिन्ह वापस पाना है जिसे चुनाव आयोग पार्टी के दो फा़ड होने के बाद से ़जब्त कर रखा है। इस विलय के बाद राज्यसभा सांसद वैतिलिंगम ने कहा शशिकला को महासचिव के पद से जल्द ही हटाया जाएगा। पूर्व मंत्री के पांडियाराजन को सरकार में तमिल आधिकारिक भाषा व तमिल संस्कृति मंत्री का प्रभार भी सौंपा गया है।झ्ध्य्द्मर्‍फ्य्द्बर्‍ द्मष्ठ ·र्ैंब्य्, ब्द्बझ्यद्यप्य्द्य ·र्ैंर्‍ त्रद्यब्पलानीसामी ने इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि अम्मा (जयललिता) ने कहा था कि मेरे बाद अन्नाद्रमुक १०० साल तक चलेगी। हम सुनिश्चित करेंगे कि ऐसा ही हो। इसी दौरान पलानीसामी ने ऐलान किया कि वह जल्द ही अपना चुनाव चिन्ह वापस लेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य जयललिता और एमजीआर के सपने को पूरा करना है। विलय के लिए ओ पन्नीरसेल्वम को धन्यवाद। पलानीसामी ने कहा कि हमारी एक ही मां है, हमारी एक ही पार्टी है। हम एक परिवार हैंृय्थ्ष्ठ च्चय्ैंट्टष्ठ ·र्ैंर्‍ द्धय्त्रघ्र्‍त्र ·र्ष्ठैं द्धय्ख्र ब्रुंश्च ्यप्ध्द्भ ·र्ैंर्‍ च्चय्ह्प्तह्लय्य्सोमवार दोपहर दो बजे के करीब दोनों गुट ­अन्नाद्रमुक मुख्यालय पहुंचे और बातचीत शुरू हुई। आधे घंटे की बातचीत के बाद ही दोनों गुटों ने एक होकर विलय की घोषणा कर दी। वहीं इस दौरान इस पर भी सहमति बनी कि पार्टी महासचिव रही शशिकला को भी पार्टी से बाहर कर दिया जाए्।बता दें कि शशिकला फिलहाल आय के ज्ञात स्रोत से अधिक संपत्ति के मामले में जेल में बंद हैं। मुख्यमंत्री का ध़डा पहले ही १० अगस्त के अपने प्रस्ताव में पार्टी प्रमुख के भतीजे और पार्टी के उपमहासिचव टीटीवी दिनाकरण को बाहर का रास्ता दिखाकर विलय का मंच तैयार कर चुका था।झ्य्ट्टर्‍श्च ·र्स्ैंठ्ठद्य ंफ् ्यप्ध्द्भ फ्ष्ठ ब्स्र क्वरुप्रय्ज्ञातव्य है कि सोमवार को विलय के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए बुलाई कई बैठक के बारे में मुख्यमंत्री पलानीसामी खेमे के नेताओं ने कहा कि उनकी यह बैठक एक बेहद अल्प सूचना पर बुलाई गई थी। अन्नाद्रमुक खेमे के दोनों गुटों के विलय होने से दोनों ध़डों के नेता खुश हैं। पार्टी नेताओं का कहना है कि यह हमारे कैडर व जनता के मनोनुकूल है। उल्लेखनीय है कि शनिवार को ओ पनीरसेल्वम ने बयान दिया था कि एक-दो दिनों में दोनों ध़डों का विलय हो जाएगा। विलय की घोषणा के बाद रोयापेटा स्थित पार्टी मुख्यालय पर भारी संख्या में मौजूद अन्नाद्रमुक कैडरों में हर्ष और उत्साह का माहौल दिखाई दिया। पार्टी कैडरों ने पटाखे जलाकर तथा मिठाइयां बांट कर प्रसन्नता जाहिर की।