बेंगलूरु दक्षिण से भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या
बेंगलूरु दक्षिण से भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। बेंगलूरु दक्षिण से भाजपा के युवा सांसद तेजस्वी सूर्या को पार्टी नेतृत्व ने बड़ी जिम्मेदारी दी है। उन्हें भाजपा युवा मोर्चा का राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। साल 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले बेंगलूरु दक्षिण सीट पर युवा चेहरे को उतारकर भाजपा ने सबको चौंका दिया था। ज्ञातव्य है कि इस सीट से स्व. अनंत कुमार छह बार जीत चुके थे।

कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद को हराकर पहली बार लोकसभा पहुंचे तेजस्वी सूर्या का राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से गहरा संबंध रहा है। कानून की पढ़ाई कर चुके तेजस्वी भाजपा के युवा मोर्चा में प्रदेश सचिव भी रहे हैं। इसके अलावा, वे छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) में सक्रिय रहे हैं।

मूलत: चिकमंगलूरु जिले से आने वाले तेजस्वी सूर्या उस समय यकायक राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा में आ गए जब भाजपा ने दिग्गजों के बजाय उन पर दांव खेलते हुए लोकसभा चुनाव के लिए बेंगलूरु दक्षिण से उम्मीदवार बनाया। अनंत कुमार के निधन के बाद यह सीट खाली हो गई थी। भाजपा के पास ऐसे कई चेहरे थे जिन्हें यहां से उम्मीदवार बनाए जाने को लेकर काफी चर्चा हो रही थी। आखिर में पार्टी ने युवा तेजस्वी पर भरोसा जताते हुए टिकट दिया और वे भारी अंतर से जीते।

उस समय बेंगलूरु दक्षिण और तेजस्वी सूर्या ट्विटर ट्रेंड में रहे। भाजपा द्वारा उम्मीदवार घोषित किए जाने से तेजस्वी सूर्या को भी बहुत आश्चर्य हुआ। उन्होंने ट्वीट किया था, ‘ओह माय गॉड! विश्वास ही नहीं होता। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री और सबसे बड़ी पार्टी के अध्यक्ष ने 28 साल के एक व्यक्ति को बेंगलूरु दक्षिण जैसी प्रतिष्ठित सीट के लिए चुना है। यह सिर्फ भाजपा में हो सकता है।’ तेजस्वी सूर्या का यह ट्वीट खूब शेयर हुआ था।

यह रहा था वोटों का गणित
बेंगलूरु दक्षिण सीट से तेजस्वी सूर्या का मुख्य मुकाबला कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद से रहा। आंकड़ों के अनुसार, यहां से तेजस्वी सूर्या को 7,39,229 वोट प्राप्त हुए, जो कुल वोटों का 62.20 प्रतिशत था। वहीं, कांग्रेस के उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद को 4,08,037 वोट मिले, जो कुल वोटों का 34.33 प्रतिशत था। इस प्रकार तेजस्वी सूर्या ने 3,31,192 वोटों के अंतर से कांग्रेसी उम्मीदवार को हराकर इतिहास रच दिया।