सिनेमाघरों में ज्यादा दर्शकों की अनुमति के लिए मुख्यमंत्री से मिलेगा प्रतिनिधिमंडल

फोटो स्रोत: PixaBay
फोटो स्रोत: PixaBay

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। केंद्र द्वारा सिनेमाघरों को पूरी क्षमता के साथ शुरू करने की अनुमति देने के बाद राज्य सरकार की ओर से सामने आए बयान में कहा गया है कि सिनेमाघरों को 28 फरवरी तक आधी क्षमता पर संचालित रखना चाहिए।

हालांकि कोविड मामलों को बढ़ने से रोकने के लिए लिया गया यह निर्णय बहुत से निर्माताओं और वितरकों के लिए सकारात्मक नहीं रहने वाला है, इसकी एक बड़ी वजह है जल्द ही रिलीज़ होने वाली बिग बजट फिल्में।

गौरतलब है कि 19 फरवरी को रश्मिका मंदाना और ध्रुव सरजा अभिनीत फिल्म पोगरू रिलीज होने वाली है। हाल के हफ्तों में यह पहली बड़ी रिलीज़ होगी, जो कि तीन भाषाओं में रिलीज़ होने वाली है, जैसे कि कन्नड़, तेलुगु और तमिल।

इसी सिलसिले में जयराज की अध्यक्षता वाला कर्नाटक फिल्म चैंबर ऑफ कॉमर्स का एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार को मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा से मिलने की तैयारी कर रहा है, जिसमें सिनेमाघरों को पूरी क्षमता के साथ खोलने की अनुमति मांगी गई है।

दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एक परिपत्र में कहा गया है कि हालांकि मामलों में गिरावट आई है, लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशानिर्देशों का पालन करना उचित होगा। कोविड -19 के वर्तमान परिदृश्य की समीक्षा करने और एक संभावित दूसरी लहर पर विचार करने के बाद, यह निर्णय लिया गया है कि एहतियात और सार्वजनिक स्वास्थ्य के हित को ध्यान में रखते हुए 28 फरवरी तक सिनेमा हॉल में बैठने की 50 प्रतिशत क्षमता जारी रहेगी।