महिला कांस्टेबल को धक्का मारते हुए कांग्रेस विधायक का वीडियो वायरल

विधायक सौम्या रेड्डी। फोटो स्रोतः ट्विटर अकाउंट।
विधायक सौम्या रेड्डी। फोटो स्रोतः ट्विटर अकाउंट।

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कांग्रेस द्वारा राज्य सरकार के खिलाफ किसान आंदोलन के समर्थन में निकाली गई विरोध रैली उस समय विवादों में आ गई जब रैली के दौरान जयनगर विधायक सौम्या रेड्डी द्वारा एक महिला कांस्टेबल को धक्का मारे जाने का वीडियो वायरल हुआ। बताया गया है कि यह घटना फ्रीडम पार्क के पास तब हुई जब रैली करते हुए कांग्रेसी कार्यकर्ता राजभवन की ओर बढ़ रहे थे।

इस घटना का वीडियो कई भाजपा नेताओं और मंत्रियों ने शेयर किया है जिसमें सौम्या एक महिला कांस्टेबल पर चिल्लाते हुए और उसे कोहनी पर मारते हुए दिखाई दे रही हैं। समाज कल्याण मंत्री बी श्रीरामुलु ने इस मामले पर ट्वीट कर कहा कि एक महिला विधायक के रूप में आपको महिला सशक्तिकरण की दिशा में काम करना चाहिए, किसी दूसरी महिला पर हाथ उठाना कहां तक सही है?

वहीं सौम्या ने इस पर सफाई देते हुए कहा है कि रैली के दौरान पुलिस ने उन्हें इस कदर घेर लिया था कि वे लगभग बेहोश हो गई थीं। वे कहती हैं कि पुलिस हमें 20 मिनट से अधिक समय तक पीछे धकेल रही थी, मानो हम कोई अपराधी हों। पुलिस की ‘असंवेदनशीलता’ के कारण मेरी गर्दन और कंधे पर चोटें आई हैं। मैं लगभग बेहोश होने वाली थी। हमारे अध्यक्ष के पास कुछ पानी लेने जा रही थी तभी एक महिला कांस्टेबल ने मेरे साथ धक्कामुक्की की।

इसके बाद विधायक सौम्या ने पुलिस कमिश्नर कमल पंत से मुलाकात की एवं मारपीट का आरोप लगाते हुए पत्र सौंपा। हालांकि इस पत्र को आधिकारिक शिकायत नहीं माना गया है। वहीं पुलिस ने भी इस मामले पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया है। मालूम हो कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सांगोली रेलवे स्टेशन से बेंगलूरु के राजभवन तक ‘राजभवन चलो’ मार्च निकाला था जहां राज्य सरकार और तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में विरोध प्रदर्शन किया गया।