दिवंगत डीएसपी लक्ष्मी
दिवंगत डीएसपी लक्ष्मी

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) में तैनात 33 वर्षीया डीएसपी लक्ष्मी वी. ने बुधवार रात को पश्चिम बेंगलूरु के अन्नपूर्णेश्वरी नगर पुलिस थाना क्षेत्र में एक दोस्त के घर कथित रूप से आत्महत्या कर ली।

पुलिस ने बताया कि इस मामले में लक्ष्मी के चार दोस्तों को हिरासत में लिया गया है और जांच जारी है। लक्ष्मी दक्षिण बेंगलूरु के कोनानकुंटे की रहने वाली थीं। वे बुधवार रात को अपने दोस्त मनु के विनायक लेआउट स्थित आवास पर खाने पर गई थीं।

बताया गया कि वे करीब 7 बजे वहां पहुंचीं और रात करीब 10 बजे खुद को एक कमरे में बंद कर लिया। जब कुछ देर बाद भी वे बाहर नहीं आईं तो मनु ने दरवाजा तोड़ा और लक्ष्मी को फंदे पर लटका हुआ पाया। इसके बाद लक्ष्मी को नीचे उतारा और एक प्राइवेट अस्पताल लेकर गए जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत पाया।

इस बारे में जांच से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि लक्ष्मी की शादी आठ साल पहले हुई थी। उन्हें कोई संतान नहीं थी। आशंका है कि उन्होंने तनाव के कारण यह कदम उठाया। पुलिस ने अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज किया है और मामले की जांच की जा रही है। इस संबंध में मनु से पूछताछ की जाएगी जो एक कांट्रेक्टर है। इसके अलावा लक्ष्मी के परिजन से भी सवाल किए जाएंगे।

बता दें कि लक्ष्मी कोलार जिले के मलुर तालुक के मास्ती गांव से थीं। वे कर्नाटक राज्य पुलिस सेवा (केएसपीएस) की 2014 बैच की अधिकारी थीं। उन्हें 2017 में नियुक्ति मिली थी। वहीं, लक्ष्मी के दोस्तों का दावा है कि वे तनाव में थीं और पहले भी आत्महत्या का प्रयास कर चुकी थीं।

कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि मामले की पूरी जांच की जाएगी, जिसमें दिवंगत अधिकारी की पृष्ठभूमि भी शामिल है। इस बात की तह तक जाकर यह पता लगाएंगे कि क्या गलत हुआ।