शंघाई/वार्ता। सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने यहां शंघाई मास्टर्स टेनिस टूर्नामेंट में बोर्ना कोरिच को पुरूष एकल फाइनल में ६-३, ६-४ से पराजित कर खिताब अपने नाम कर लिया है जो उनका यहां चौथा खिताब है। १४ बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन बेहतरीन लय में खेल रहे हैं और उन्होंने १९वीं रैंक और अपने ट्रेनिंग साथी कोरिच को मैच में खुद पर हावी होने का मौका नहीं दिया। मैच के आखिरी में सर्बियाई खिला़डी ने वीडियो समीक्षा के बाद चैंपियनशिप अंक हासिल करने के साथ खिताब भी जीत लिया। विजयी घोषित होते ही जोकोविच ने खुशी से अपना चेहरा छुपा लिया। ३१ साल के जोकोविच इसी के साथ रोजर फेडरर को पीछे छो़डकर सोमवार को ता़जा जारी विश्व रैंकिंग में दुनिया के दूसरे नंबर के पुरुष खिला़डी बन गए हैं और उन्होंने नंबर एक राफेल नडाल को भी पीछे छो़डने का संकेत दे दिया है। पिछले काफी समय से चोट से जूझ रहे जोकोविच की यह कोर्ट पर जबरदस्त वापसी है और वह नडाल से एटीपी रैंकिंग में केवल २१५ अंक ही पीछे है। जोकोविच ने जीत के बाद कहा, मैं इससे बेहतर और कुछ नहीं मांग सकता था। मैं रैंकिंग में नडाल के बहुत करीब आ गया हूं और पिछले वर्ष के आखिरी से अब तक मैंने अपने खेल में काफी सुधार किया है। जोकोविच आखिरी बार दो वर्ष पहले करियर में शीर्ष रैंकिंग पर पहुंचे थे। सर्बियाई खिला़डी ने इसी के साथ लगातार १८ एटीपी मैचों को जीत लिया है। उन्होंने लगातार विंबलडन, सिनसिनाटी मास्टर्स, यूएस ओपन और शंघाई मास्टर्स खिताब जीते हैं।