कोलंबो। श्रीलंका के खिलाफ चौथे एक दिवसीय क्रिकेट मैच में गुरुवार को भारतीय टीम लगातार चौथी जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी तो सभी की नजरें महेंद्र सिंह धोनी पर लगी होगी जो इस प्रारूप में ३००वां मैच खेलेंगे। ऐसे में पूरी संभावना है कि भारत के पूर्व कप्तान धोनी यादगार पारी खेलकर इस मैच को भी स्मरणीय बना दें क्योंकि अभी तक सभी मैच एकतरफा रहे हैं। वनडे क्रिकेट में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशरों में से एक धोनी से अधिक वनडे सिर्फ सचिन तेंदुलकर (४६३), राहुल द्रवि़ड (३४४), मोहम्मद अजहरूद्दीन (३३४), सौरव गांगुली (३११) और युवराज सिंह (३०४) ने खेले हैं। पिछले मैच में उम्दा बल्लेबाजी करने वाले धोनी उस लय को कायम रखना चाहेंगे। उन्होंने दबाव के हालात में ४५ और ६७ रन की पारियां खेली जिससे साबित होता है कि अभी उनके भीतर क्रिकेट बाकी है और उनकी नजरें २०१९ विश्व कप पर लगी है। विश्व स्तरीय फिनिशर से रोहित शर्मा या भुवनेश्वर कुमार जैसे खिलाि़डयों के सहयोगी की भूमिका निभा रहे धोनी ने अपने खेल को नया आयाम दिया है। इसमें भी कोई शक नहीं कि अकिला धनंजया को छो़डकर कोई भी श्रीलंकाई गेंदबाज भारतीयों पर दबाव नहीं बना सका। भारत श्रृंखला में ३-० से आगे है। विराट कोहली का अगला लक्ष्य बेंच स्ट्रेंथ को मौका देना होगा जिनमें कुलदीप यादव, मनीष पांडे, अजिंक्य रहाणे और शरदुल ठाकुर शामिल हैं। कोहली भी लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके हैं। वहीं चौथे नंबर पर केएल राहुल भी अच्छी पारी खेलना चाहेंगे। लगातार दो मैचों में खाता खोलने में नाकाम रहे केदार जाधव पर दबाव होगा। वह धनंजया की गेंदों को समझने में पूरी तरह से नाकाम रहे। पहले मैच में वह गुगली पर चूके और दूसरे मैच में स्वीप शॉट खेलते हुए गेंद की लंबाई नहीं भांप सके। यह देखना होगा कि क्या टीम प्रबंधन जाधव की जगह पांडे को मौका देता है? जाधव के साथ फायदा उनकी सपाट ऑफ ब्रेक है जिससे कोहली को एक अतिरिक्त गेंदबाजी विकल्प मिलता है। जाधव ने अभी तक तीन विकेट लिए हैं। तेज गेंदबाज ठाकुर ने नेट पर अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह तीन ही मैच खेले हैं और आराम नहीं चाहेंगे। कोहली संकेत दे चुके हैं कि वह खिलाि़डयों को रोटेट करना चाहते हैं और ऐसे में चाइनामैन कुलदीप यादव को मौका मिल सकता है। ऐसे में अक्षर पटेल या युजवेंद्र चहल को बाहर रहना होगा।दूसरी ओर श्रीलंका के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ अंतिम एकादश उतार पाना मुश्किल हो गया है। सनत जयसूर्या की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने इस्तीफा दे दिया है जिसे श्रीलंका क्रिकेट ने स्वीकार भी कर लिया। वे इस श्रृंखला के अंत तक पद पर बने रहेंगे। दिनेश चांदीमल पिछले वनडे में अंगूठे में फ्रेक्चर के कारण श्रृंखला से बाहर हो गए हैं। वहीं कार्यवाहक कप्तान चामरा कापूगेदारा भी कमर की चोट के कारण आगे नहीं खेल सकेंगे। लसिथ मलिंगा चौथे वनडे में कमान संभालेंगे जबकि निलंबित कप्तान उपुल थरंगा पांचवें वनडे और छह सितंबर को होने वाले टी२० मैच में कप्तानी करेंगे।