मॉस्को। पांच बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन रूस की टेनिस स्टार मारिया शारापोवा ने कहा है कि डोपिंग मामले को लेकर १५ महीने के प्रतिबंध ने उन्हें खेल के प्रति और अधिक मजबूत बनाया है। पूर्व विश्व नंबर एक शारापोवा को प्रतिबंधित दवा मेलडोनियम के सेवन का दोषी पाए जाने के बाद उन पर १५ महीने का प्रतिबंध लगा दिया गया था। प्रतिबंध समाप्त होने के बाद मई में मैड्रिड ओपन तथा अप्रैल में उन्हें स्टटगार्ट ओपन और फिर इटालियन ओपन में खेलने के लिए आमंत्रित किया गया था और इसके लिए उन्हें वाइल्डकार्ड भी दिया गया था जिसे लेकर काफी विवाद भी हुआ था। शारापोवा ने अपने कॉलम में लिखा, पिछले दो वर्ष मेरे लिए काफी मुश्किल भरे रहे लेकिन इस खेल के प्रति मेरा प्यार जरा सा भी नहीं बदला। १५ महीने के प्रतिबंध के दौरान यदि कुछ हुआ तो यह हुआ कि प्रतिबंध ने इस खेल के प्रति मुझे और अधिक मजबूत बनाया। रूसी टेनिस स्टार अब अगले सप्ताह केलिफोर्निया के स्टानफोर्ड में शुरु होने वाले बैंक ऑफ वेस्ट टूर्नामेंट से हॉर्डकोर्ट की शुरूआत करेंगी। उन्होंने कहा, उत्तरी अमेरिकन हार्डकोर्ट सत्र से अब मैं फिर से कोर्ट पर वापसी करने के लिए तैयार हूं। मैं स्टनफोर्ड और फिर टोरोंटो टूर्नामेंट में खेलूंगी। इस टूर्नामेंट में मैं अपना सब कुछ झोंक दूंगी जो कुछ भी मेरे पास है। शारापोवा को वाइल्कार्ड मिलने पर पूर्व और मौजूदा खिला़डी सहित कई लोगों ने इसकी आलोचना की थी। शारापोवा ने कहा, मुझे इस बारे में पता है। जिन लोगों ने मेरे बारे में जो कुछ भी उन सब से मैं अवगत हूं। जिन लोगों ने कुछ भी कहा मैं उसका जवाब नहीं देना चाहती। यह उन लोगों के सोच का नजरिया हो सकता है। मेरे लिए क्या सही वह मुझे पता है।