नई दिल्ली। विश्व चैंपियनशिप में रजत जीतने वाली पीवी सिंधू और कांस्य पदक जीतने वाली साइना नेहवाल ने केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल द्वारा यहां आयोजित सम्मान समारोह में गुरुवार को एक स्वर में कहा कि भारत बैडमिंटन की नई सुपर पावर बन रहा है।खेल मंत्री गोयल ने अपने निवास पर भारतीय बैडमिंटन की इन दोनों दिग्गज महिला खिलाि़डयों के लिए सम्मान समारोह आयोजित किया था। समारोह में राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद, साइना के कोच विमल कुमार और शीर्ष पुरुष खिला़डी किदाम्बी श्रीकांत भी मौजूद थे। गोयल ने सभी खिलाि़डयों और कोचों को चमचमाती ट्राफी देकर सम्मानित किया।सिंधू और साइना तथा उनके कोचों ने इस अवसर पर सरकार और खासतौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद करते हुए कहा, प्रधानमंत्री खुद खेलों में बहुत दिलचस्पी लेते हैं और खिलाि़डयों को हमेशा प्रोत्साहित करते रहते हैं। यह हम सभी के लिए ब़डे गर्व की बात है। खिलाि़डयों को कोई टूर्नामेंट खेलने और अच्छा परिणाम देने के बाद जब ऐसा सम्मान मिलता है तो उसका मनोबल ऊंचा हो जाता है।विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में रजत जीतने वाली सिंधू ने कहा, बैडमिंटन इस समय नई ऊंचाइयों पर पहुंच चुका है। खिला़डी लगातार अच्छे परिणाम दे रहे हैं। मेरा फाइनल मुकाबला बहुत मुश्किल था और यह बैडमिंटन इतिहास के सबसे लंबे मैचों में से एक था। मैंने अपनी ओर से भरपूर कोशिश की थी। २०-२० के स्कोर पर परिणाम किसी के पक्ष में भी जा सकता था। जापानी खिला़डी ने भी शानदार खेल दिखाया।विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक के जरिए अपने आत्मविश्वास में वापसी करने वाली साइना ने कहा, भगवान की दया है कि मैं अपने पैरों पर ख़डी हो सकी। मैं विश्वास दिलाती हूं कि आगे भी अच्छा प्रदर्शन करूंगी। मैं अपने सभी शुभचिंतकों को भी धन्यवाद देना चाहती हूं।साइना ने साथ ही कहा, सरकार और गोयल सर हमें लगातार अपना समर्थन दे रहे हैं और सुविधाएं भी मिल रही हैं। मुझे लगता है कि अब चैंपियन तैयार करना मुश्किल नहीं है क्योंकि जैसी सुविधाएं मिल रही हैं वे खिलाि़डयों के लिए बहुत कारगर है। लेकिन खिलाि़डयों को खुद भी अच्छा करना होगा और परिणाम देने होंगे। भारतीय टीम अब चीन, जापान और कोरिया जैसी मजबूत टीम बन चुकी है। विश्व चैंपियनशिप में क्वार्टरफाइनल तक पहुंचे शीर्ष पुरुष खिला़डी श्रीकांत ने कहा, मैं पिछले महीने भी यहां एक स्वागत समारोह में आया था। मैं सरकार को उसके सहयोग के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। किसी टूर्नामेंट में खेलने और वापिस आने पर ऐसा स्वागत मिलने से किसी भी खिला़डी का मनोबल ऊंचा होता है। मैं अपने कोच गोपी सर को भी उनके लगातार सहयोग के लिए धन्यवाद देता हूं। मैं क्वार्टरफाइनल में हार गया था लेकिन मैंने वहां से बहुत कुछ सीखा है।राष्ट्रीय कोच गोपीचंद ने कहा, हमारे साथ इस समय दो विश्व चैंपियनशिप के पदक विजेता बैठे हैं। पिछले दो ओलंपिक और कई विश्व चैंपियनशिप में हमने लगातार कई अच्छे परिणाम दिए। हमारे खिला़डी टूर्नामेंटों में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं और कोई न कोई जरूर खिताब जीतता है।साइना के कोच विमल ने कहा, खिला़डी लगातार अच्छे परिणाम दे रहे हैं और यह सबकुछ सरकार के सहयोग से ही संभव हो पा रहा है। हमारे पास भविष्य के लिए अच्छे युवा खिला़डी तैयार हो रहे हैं और जिस तरह ये सीनियर खिला़डी प्रदर्शन कर रहे हैं उससे मुझे लगता है कि हम जल्द ही थॉमस या उबेर कप में खिताब जीतेंगे।सम्मान समारोह से पहले काफी ते़ज बारिश आ गई जिसके कारण समारोह को लॉन में लगे टैंट से हटाकर खेल मंत्री के निवास में करना प़डा। बारिश के कारण मीडियाकर्मियों को समारोह के लिए लंबा इंतजार करना प़डा। समारोह में इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडियाकर्मी खचाखच भरे हुए थे और भारी शोर शराबे के कारण खेल मंत्री को उठकर खुद शांति की अपील करनी प़डी।खेल मंत्री गोयल ने सिंधू के फाइनल को याद करते हुए कहा, मैं रात को वह मैच देख रहा था। मुकाबला इतना जबरदस्त था कि ध़डकनें ते़ज होती जा रही थीं। मैं समझता हूं कि जिस तरह ये दो खिला़डी हमारे पास हैं हम तो विश्व चैंपियन हैं। सिंधू और साइना की लोकप्रियता देश में क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की लोकप्रियता से कहीं कम नहीं है।गोयल ने इन तीनों बैडमिंटन स्टार से आग्रह किया कि खेल मंत्रालय एक खेल संग्रहालय खोलने जा रहा है और आप उस संग्रहालय के लिए अपने-अपने एक रैकेट दें। गोयल ने साथ ही कहा कि और भी खिलाि़डयों से ऐसी ही अपील की जाएगी। उन्होंने कहा, इन खिलाि़डयों ने अपने प्रदर्शन से देश का मान सम्मान ब़ढाया है। प्रधानमंत्री खुद खेलों को ब़ढावा देने के लिए तत्पर रहते हैं। इनकी मेहनत लाखों खिलाि़डयों के लिए आदर्श बनेगी और अगले ओलंपिक में हमें ज्यादा से ज्यादा पदक मिलेंगे। विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने के बावजूद भारत की पीवी सिंधू का विश्व रैंकिंग में चौथा स्थान कायम है जबकि कांस्य पदक जीतने वाली साइना नेहवाल चार स्थान के सुधार के साथ १२वें नंबर पर आ गई हैं। सिंधू को फाइनल में नोजोमी ओकूहारा से हार कार सामना करना प़डा था। सिंधू का गुरुवार को जारी ताजा रैंकिंग में चौथा स्थान बना हुआ है। महिला रैंकिंग के शीर्ष आठ स्थानों में कोई बदलाव नहीं है। ताइपे की तेई जू यिंग नंबर एक पर कायम हैं। नई विश्व चैंपियन ओकूहारा तीन स्थान के सुधार के साथ टॉप-१० में शामिल हो गई हैं और अब वह नौवें स्थान पर हैं। कांस्य पदक जीतने वाली साइना को सेमीफाइनल में ओकूहारा से ही शिकस्त झेलनी प़डी थी। लेकिन उन्हें चार स्थान का फायदा हुआ और अब वह १६वें से १२वें नंबर पर पहुंच गई हैं। चैंपियनशिप के क्वार्टरफाइनल में हारे किदाम्बी श्रीकांत पुरुष रैंकिंग में दो स्थान के सुधार के साथ आठवें नंबर पर पहुंच गए हैं। अजय जयराम ने एक स्थान और बी साई प्रणीत ने दो स्थान का सुधार किया है। दोनों अब १६वें और १७वें नंबर पर आ गए हैं। एच एस प्रणय को तीन स्थान का नुकसान हुआ है और वह १८वें नंबर पर खिसक गए हैं। समीर वर्मा तीन स्थान के फायदे के साथ २६वें नंबर पर आ गए हैं। पुरुष युगल में मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी एक स्थान के सुधार के साथ ३३वें नंबर पर खिसक गए हैं। अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी का महिला युगल में २४वां स्थान बरकरार है। मिश्रित युगल में प्रणव चोप़डा और एन सिक्की रेड्डी एक स्थान के सुधार के साथ १९वें तथा बी सुमित रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा नौ स्थान की छलांग की सुधार के साथ ४७वें नंबर पर पहुंच गए हैं।