नई दिल्ली। भारत को २० वर्ष पिछ़डा बताने तथा यहां की स़डकों पर गायों और बंदरों की मौजूदगी की हंसी उ़डाने वाले बास्केटबाल स्टार केविन डूरंट ने शनिवार को अपनी इस आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए भारतवासियों से माफी मांग ली। जुलाई में भारत दौरे पर आए डूरंट ने एक साक्षात्कार में कहा था कि भारत करीब २० वर्ष पिछ़डा हुआ देश है। हालांकि जब उनके इस बयान की आलोचना हुई तो उन्होंने इसके लिए ट्विटर पर माफी मांग ली है और कहा कि उनकी टिप्पणियों को गलत समझा गया है। वर्ष २०१७ के एनबीए मोस्ट वैल्यूड प्लेयर(एमवीपी) चुने गए डूरंट ने ट्विटर पर माफी मांगते हुए लिखा, मैं अपनी टिप्पणियों के लिए माफी मांगता हूं जो मैंने भारत के लिए की थी। मुझे यहां जो समय बिताने के लिए मिला मैं उसके लिए आभारी हूं। मेरे बयान को गलत तरीके से लिया गया और मैं मानता हूं कि इसमें कहीं मेरे शब्दों के चयन की गलती है।डूरंट ने अपने साक्षात्कार में कहा था कि भारत २० वर्ष पिछ़डा हुआ देश है जहां अनुभव और जानकारी की कमी है और यहां पर बस गरीब पिछ़डे हुए लोग रहते हैं जो बास्केटबाल सीखना चाहते हैं। उन्होंने कहा था, आप भारत में स़डकों पर गाय और बंदरों को भागते हुए देख सकते हैं और स़डक के किनारे सैंक़डों लोग देखे जा सकते हैं और स़डक पर ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन आम बात है। यहां बहुत सारे गरीब बच्चे हैं जो केवल बास्केटबाल सीखना चाहते हैं।