मुंबई। भारतीय खेल जगत में क्रिकेट प्रसारण में अपना एकाधिकार जमा चुके स्टार इंडिया ने बेशुमार दौलत से भरपूर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के अगले पांच वर्ष के प्रसारण अधिकार सोमवार को 16347.5 करोड़ रुपए (2.5 अरब डॉलर) में खरीद लिये।

स्टार ने वर्ष 2018 से 2022 तक पांच साल के लिये आईपीएल के प्रसारण अधिकार खरीदे हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के ख़जाने में इससे भारी इज़ाफा हुआ है। स्टार इंडिया ने आईपीएल के वैश्‍विक टेलीविज़न और डिजीटल प्रसारण अधिकार खरीद लिये हैं।

स्टार को मिले इस प्रसारण अधिकार ने भारतीय टेलीविज़न बाज़ार में अधिकार खरीदने का नक्शा ही बदल दिया है। वर्ष 2009 में सोनी ने वर्ल्ड स्पोर्ट्स ग्रुप से नौ साल के लिये आईपीएल प्रसारण अधिकार 1.63 अरब डॉलर (8200 करोड़) में खरीदे थे। वर्ल्ड स्पोर्ट्स ग्रुप ने बीसीसीआई से यह अधिकार 10 वर्षों के लिये 91.8 करोड़ डॉलर में हासिल किये थे। आईपीएल प्रसारण अधिकार का यह चक्र वर्ष 2017 में समाप्त हो गया था।

स्टार भारत में डिजीटल राइट्स का पिछला अधिकारी था। उसने वर्ष 2015 से 2017 तक के तीन साल के डिजीटल प्रसारण अधिकार के लिये 303 करोड़ रूपये दिये थे।

आईपीएल के प्रसारण अधिकार हासिल करने के लिए काफी मारामारी थी और इसके लिये 24 कंपनियां मैदान में थीं। प्रसारण अधिकार प्राप्त करने के लिए जो कंपनियां मैदान में कूदी थीं उनमें फॉलोऑन इंटरेक्टिव मीडिया, ताज टीवी इंडिया, स्टार इंडिया, सोनी पिक्चर्स नेटवर्क, टाइम्स इंटरनेट, सुपर स्पोर्ट इंटरनेशनल, रिलांयस जियो डिजिटल सर्विस, गल्फ डीटीएच, ग्रुप एम मीडिया इंडिया, बीइनआईपी, इकोनेट मीडिया, स्काई यूके, बीटीजी लीगल सर्विसिज, बीटी पीएलसी, एमेज़न, फेसबुक, ट्वीटर, ईएसपीएन डिजिटल मीडिया, डिस्कवरी, एयरटेल, बैमटैक, यप टीवी, डीएजेडएन, परफार्म ग्रुप व याहू शामिल थीं।

कुल 24 कंपनियों ने निविदा दस्तावेज़ खरीदे थे जिनमें से 14 ने ही प्रसारण के लिये अपनी बोलियां लगाई। प्रसारण अधिकारों के लिये जो वर्ग रखे गये थे उनमें भारत में टेलीविजन, भारत में डिजीटल, अमेरिका, यूरोप, पश्‍चिम एशिया, अफ्रीका और शेष विश्‍व के लिये अधिकार शामिल थे।

पांच अंतरराष्ट्रीय बाज़ारों के लिये बोलियां टेलीविज़न और डिजीटल दोनों को लेकर शामिल थीं। स्टार ने एक मुश्त बोली लगाकर सभी अधिकार खरीद लिये हैं। स्टार की बोली व्यक्तिगत बोलियों से कहीं ज्यादा थी।

स्टार इंडिया के अध्यक्ष उदय शंकर ने आईपीएल अधिकार खरीदने के बाद कहा, हमारा मानना है कि आईपीएल इस समय क्रिकेट की सबसे महंगी और दुनिया में खेलों के बीच एक महंगी प्रापर्टी है। हम डिजीटल और टीवी पर क्रिकेट प्रशंसकों को बहुत कुछ दे सकते हैं। हम इस बात के लिये प्रतिबद्ध हैं कि इस देश में खेलों को बढ़ावा देने के लिये काम करते रहे हैं जहां क्रिकेट को लेकर खासा जुनून है।‘