कपिल देव
कपिल देव

नई दिल्ली/भाषा। भारत के पहले विश्व कप विजेता क्रिकेट कप्तान कपिल देव की दिल का दौरा पड़ने के बाद शुक्रवार को एंजियोप्लास्टी की गई और अगले दो दिन में उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिलने की उम्मीद है। वे इस समय जिस अस्पताल में भर्ती हैं, उसने यह जानकारी दी।

कपिल (61 वर्ष) को गुरुवार को सीने में दर्द की शिकायत के बाद यहां फोर्टिस एस्कोर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट आपात विभाग में ले जाया गया। अस्पताल ने अपने शुरुआती बयान में सिर्फ सीने में दर्द का ही जिक्र किया था, लेकिन फिर अपडेट स्वास्थ्य बुलेटिन में कहा, ‘क्रिकेटर कपिल देव को दिल का दौरा पड़ा था। उनकी जांच की गयी और रात में ही आपात कोरोनरी एंजियोप्लास्टी की गई।’

इसके अनुसार, ‘इस समय वह डॉ. अतुल माथुर और उनकी टीम की देखरेख में आईसीयू में हैं। उनकी हालत स्थिर है। उन्हें दो दिन में अस्पताल से छुट्टी मिलने की उम्मीद है।’ एंजियोप्लास्टी ‘ब्लॉक’ हुई धमनियों को खोलने की प्रक्रिया है ताकि हृदय में सामान्य रक्त संचार हो सके।

भारतीय क्रिकेटर संघ (आईसीए) अध्यक्ष और कपिल के मित्र अशोक मल्होत्रा ने यह जानकारी दी कि अब उनका स्वास्थ्य ठीक है। पूर्व टेस्ट खिलाड़ी मल्होत्रा ने कहा, ‘वह अब ठीक महसूस कर रहे हैं। मैंने अभी उनकी पत्नी (रोमी) से बात की। वह कल थोड़ी बेचैनी महसूस कर रहे थे। अस्पताल में उनके परीक्षण किए जा रहे हैं।’

सोशल मीडिया पर काफी लोगों ने 1983 विश्व विजेता महान आल राउंडर के तेजी से उबरने की कामना की जिसमें भारतीय कप्तान विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर सहित अन्य खिलाड़ी शामिल हैं।

दिग्गज बल्लेबाज तेंदुलकर ने कहा, ‘अपना ध्यान रखें। आपके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना कर रहा हूं।’ कोहली ने ट्वीट किया, ‘आपके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना कर रहा हूं। जल्दी ठीक हो जाइये पाजी।’

भारतीय बल्लेबाज शिखर धवन ने ट्वीट किया, ‘कपिल देव सर आपके जल्दी से ठीक होने की कामना करता हूं। हमेशा मजबूत रहिए।’ बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने भी उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

इस महान आल राउंडर के पूर्व साथी मदनलाल ने ट्वीट किया, ‘जिन्होंने भी जानने के लिए फोन किया, आपकी प्रार्थनाएं परिवार को पहुंचा दी गई हैं जिन्हें आभार के साथ लिया गया है। कैप्स (कपिल), स्वस्थ और मजबूत रहिए।’

भारत के महान क्रिकेटरों में से एक कपिल ने 131 टेस्ट और 225 वनडे खेले हैं। वह क्रिकेट के इतिहास में एकमात्र खिलाड़ी हैं जिन्होंने 400 से ज्यादा (434) विकेट अपने नाम कर टेस्ट मैचों में 5000 से ज्यादा रन जुटाए हैं।

वह 1999 और 2000 के बीच भारत के राष्ट्रीय कोच भी रह चुके हैं। कपिल को 2010 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था।

उनके पूर्व साथी कीर्ति आजाद ने ट्वीट किया, ‘बड़े दिल वाले हमारे कप्तान और कभी भी हार नहीं मानने वाले कपिल देव उबर गए हैं। भारतीय क्रिकेट के इस विशालकाय खिलाड़ी के लिए कुछ भी असंभव नहीं है। कपिल मेरे परम मित्र और बेहतरीन इंसान हैं। जल्द ही एक साथ खाना खाएंगे।’