सुशांत सिंह राजपूत
सुशांत सिंह राजपूत

नई दिल्ली/भाषा। करिश्माई विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी के हेलीकॉप्टर शॉट का मुरीद उनका हर प्रशंसक है लेकिन भारतीय टीम का यह पूर्व कप्तान बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के हेलीकॉप्टर शॉट को देखकर चौंक गया था।

सुशांत ने 2016 में धोनी के जीवन पर बनी फिल्म ‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ में उनके किरदार को बड़े पर्दे पर जीवंत किया था। फिल्म की रिलीज से पहले संवाददाता सम्मेलन में धोनी ने कहा था कि सुशांत का हेलीकॉप्टर शॉट खेलने का तरीका बिल्कुल उनके जैसा है।

धोनी ने तब कहा था, ‘सुशांत का हेलीकॉप्टर शॉट बिल्कुल मेरे जैसा है, शूटिंग के लिए अभ्यास के दौरान वे इस शॉट को कई बार मुझ से भी अच्छा खेलते थे।’ सुशांत ने इस फिल्म में धोनी के किरदार को शानदार तरीके से पर्दे पर उतारा था। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर सफलता के झंडे भी गाड़े थे।

सुशांत ने फिल्म की रिलीज से पहले कहा था कि धोनी जब से भारतीय टीम में आए हैं, वे उनके प्रशंसक हैं। सुशांत ने कहा था कि जब वे क्रिकेट खेलते थे, किसी ने सोचा भी नहीं था कि बिहार-झारखंड का कोई लड़का भारतीय टीम में जाएगा।

सुशांत ने कहा था, ‘पहली बार मैंने धोनी को 2004 में पाकिस्तान के खिलाफ मैच में देखा था। वे लंबे बाल रखते थे और करियर के शुरुआती दौर में ही आत्मविश्वास से भरे हुए थे। एक मैच में उन्होंने 148 रन की पारी खेली थी। इस मैच के बाद से ही मैं एक प्रशंसक के तौर पर धोनी को फॉलो करता हूं और मुझे पहली बार धोनी से मिलने का मौका 2006-07 में पाकिस्तान के खिलाफ मैच के दौरान ही मिला था और तब मैंने उनके साथ फोटो भी खिंचवाई थी।’

सुशांत ने कहा था कि वे धोनी के अलावा सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग के भी प्रशंसक हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं तेंदुलकर और सहवाग का प्रशंसक रहा हूं लेकिन धोनी मेरे चहेते हैं क्योंकि उन्होंने छोटे शहर के युवाओं को सपने को पूरा करने का हौसला दिया है।’

सुशांत ने इस साक्षात्कार में कहा था, ‘जब मैं क्रिकेट खेलता था तब कोई सोच भी नहीं सकता था कि बिहार-झारखंड से किसी खिलाड़ी का भारतीय टीम में चयन होगा। धोनी ने न सिर्फ टीम में जगह बनाई, बल्कि वह टीम के सबसे सफल कप्तान भी बने।’

धोनी के किरदार को पर्दे पर उतरने के लिए सुशांत ने भी कोई कमी नहीं छोड़ी थी। उन्होंने इसके लिए भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे से प्रशिक्षण लिया था।

मोरे ने सुशांत के निधन पर आश्चर्य व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘यह मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से चौंकाने वाला क्षण है, मैंने धोनी की भूमिका के लिए उन्हें प्रशिक्षित किया था। मुझे नहीं पता कि उनके जानने वाले इस सदमे से कैसे उबरेंगे। आप बहुत जल्दी चले गए मेरे दोस्त।’

मोरे खुद भी सुशांत की मेहनत से काफी प्रभावित हुए थे। उन्होंने इस फिल्म की रिलीज से पहले एक साक्षात्कार में कहा था कि सुशांत धोनी के ट्रेडमार्क हेलीकॉप्टर शॉट को पूरे ‘परफेक्शन’ से मारते हैं।

उन्होनें कहा था, ‘मुझे लगता है कि धोनी के बाद हेलीकॉप्टर शॉट को अगर पूरे परफेक्शन से कोई मार सकता है तो वह सुशांत ही हैं। मैं चैलेंज दे सकता हूं कि आप सुशांत के साथ किसी क्रिकेटर को खड़ा कर दीजिए और दोनों में, सुशांत ज्यादा अच्छा हेलीकॉप्टर शॉट मारेगा।’

मोरे ने कहा था, ‘किसी अभिनेता को पेशेवर क्रिकेटर का गुर सिखाना काफी मुश्किल काम है लेकिन सुशांत ने अपनी मेहनत और लगन से मुश्किल को बौना साबित कर दिया।’ मोरे ने कहा था कि सुशांत रोज 10 से 12 घंटे अभ्यास करते थे जिसमें पांच से छह घंटे विकेटकीपिंग का अभ्यास होता था और फिर बल्लेबाजी का।