नई दिल्ली/भाषाईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध लागू होने के बाद कच्चा तेल के आयात पर प़डने वाले असर की भरपाई के लिए घरेलू तेल कंपनियों ने सऊदी अरब तथा इराक जैसे अन्य निर्यातकों के साथ पर्याप्त अनुबंध किए हैं। वरिष्ठ अधिकारियों ने सोमवार को इसकी जानकारी दी। भारत ने वित्त वर्ष २०१७-१८ में ईरान से २२६ लाख टन कच्चा तेल की खरीद की थी। मौजूदा वित्त वर्ष के लिए ईरान से करीब २५० लाख टन कच्चा तेल का सौदा हुआ है। नवंबर महीने से अमेरिका के प्रतिबंध लागू हो जाने के बाद ईरान से कच्चा तेल खरीदने में रुकावटें आएंगी जिससे आयात पर निर्भर भारत जैसे देशों के सामने संकट उपस्थित होने की आशंकाएं हैं। भारत ईरान के कच्चे तेल का दूसरा सबसे ब़डा खरीदार है जबकि भारत के कुल कच्चा तेल आयात में ईरान की तीसरी सर्वाधिक हिस्सेदारी है।इंडियन ऑयल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हमारे पास सभी अनुबंधित आपूर्तिकताओं के साथ वैकल्पिक सौदे हैं।