चीन में इंसाफ मांगने पहुंचीं महिलाओं ने सिर मुंडवाया।
चीन में इंसाफ मांगने पहुंचीं महिलाओं ने सिर मुंडवाया।

बीजिंग। मानवा​धिकारों और प्रेस की आज़ादी के मामले में चीन का रिकॉर्ड सवालों के घेरे में रहा है। अब महिलाएं भी चीन सरकार की मनमानी के खिलाफ खड़ी हो रही हैं। इसके लिए उन्होंने विरोध का जो तरीका अपनाया, वह पूरी दुनिया में चर्चा में है। उन्होंने विरोध के तौर पर अपना सिर मुंडवाया और मानवाधिकारों के लिए आवाज बुलंद की। ये महिलाएं अपने पतियों को इंसाफ दिलाने के लिए विरोध प्रदर्शन कर रही हैं जो इन दिनों जेल में बंद हैं।

इनमें से एक वकील है और तीन उसके समर्थक हैं। उन्हें चीन सरकार ने जेल में बंद कर रखा है। जब कहीं से भी इंसाफ की उम्मीद नजर नहीं आई तो उनकी पत्नियों ने मोर्चा संभाला और अपने सिर मुंडवाकर विरोध प्रदर्शन करने लगीं। इन चारों महिलाओं का कहना है कि चीन में दिनोंदिन कानून का शासन समाप्त होता जा रहा है। वे सिर मुंडवाकर हांगसेकुन उच्च न्यायालय के सामने पहुंचीं और विरोध प्रदर्शन करने लगीं।

इन महिलाओं ने कहा कि हम गंजे सिर के साथ रह सकती हैं लेकिन देश से कानून के शासन को समाप्त नहीं किया जा सकता। बताया गया कि इन महिलाओं के पति 9 जुलाई, 2015 से चीन सरकार की कैद में हैं। वे जमीन अधिग्रहण के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। जेल में डालने के बाद इन चारों लोगों के मानवाधिकारों का उल्लंघन किया गया और परिजनों से नहीं मिलने दिया गया।

यही नहीं, इनके खिलाफ 2016 में राज्य शक्ति के विरुद्ध होने के आरोप मढ़ दिए गए। गिरफ्तार वकील वांग की रिहाई के लिए कई लोगों ने मांग की है लेकिन अभी तक चीनी प्रशासन ने कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं दी। वहीं वांग की पत्नी वेंजुई ने बताया कि इस मामले में नियमों का पालन ​नहीं किया जा रहा है। उनके मुताबिक, तीन साल में ही वांग की रिहाई के लिए तीस से ज्यादा अपील पत्र लिखे गए लेकिन सरकार की ओर से उनका जवाब तक नहीं दिया गया। आखिरकार उन्होंने सिर मुंडवाकर प्रदर्शन शुरू किया।

क्रिसमस से पहले लगाए प्रतिबंध
उधर चीनी प्रशासन ने क्रिसमस से पूर्व ही कई सख्त नियमों का ऐलान कर दिया है। ये नियम उत्तरी हिस्से में स्थित शहर लांगफांग में लागू किए गए हैं। यहां क्रिसमस से जुड़ी सजावटी चीजों की बिक्री पर रोक लगा दी गई है। प्रशासन की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि सड़कों पर क्रिसमस ट्री बेचना मना है। इसके अलावा स्टोर में भी क्रिसमस के पोस्टर, बैनर और लाइट बॉक्स लगाने की अनुमति नहीं होगी। शहर में फेरीवालों को निर्देश दिए गए हैं कि वे सांता कॉस्ट्यूम और क्रिसमस ट्री जैसे सामान न बेचें।

ये भी पढ़िए:
– भोजपुरी एक्ट्रेस मोनालिसा के इस वीडियो ने मचाया तहलका, खूब मिल रहे लाइक
– चीन: सरकार की मनमर्जी, 200 से ज्यादा मुस्लिम पुरुषों की पत्नियां लापता
– क्रिसमस से पहले विचित्र नजारा, यहां सड़क पर बहने लगी चॉकलेट की ‘नदी’!
– चाय-समोसे की यह तस्वीर देख याद आया ‘फूल और कांटे’ का सीन