टोक्यो। जापान की राजकुमारी माको ने रविवार को एक आम युवक से अपनी सगाई की घोषणा की। जापान के राजवंश में पुरुष सत्तात्मक प्रकृति को रेखांकित करने वाले कानून के मुताबिक राजकुमारी को इस सगाई की कीमत अपना शाही दर्जा खोकर अदा करना होगा।विवादास्पद परंपरा के तहत एक आम युवक से शादी के कारण अब माको शाही परिवार की सभी महिला सदस्यों की तरह मिलने वाला अपना शाही दर्जा खो देंगी। बहरहाल यह कानून शाही पुरुषों पर लागू नहीं होता है।माको (२५) सम्राट अकिहीतो की सबसे ब़डी पोती एवं सम्राट के दूसरे पुत्र राजकुमार अकिशीनो की सबसे ब़डी बेटी हैं। बहरहाल, टेलीविजन पर प्रसारित संवाददाता सम्मेलन में अपनी सगाई की घोषणा करते हुए उन्होंने देश को बताया कि वह वाकई में खुश महसूस कर रही हैं। उन्होंने कहा, मैं बचपन से इस बात से वाकिफ थी कि जब मैं शादी करूंगी तो मुझे अपना शाही दर्जा छो़डना होगा। शाही परिवार के सदस्य के तौर पर मैंने हर संभव सम्राट की मदद और अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया। मैं अपने जीवन का आनंद ले रही हूं। विधि कंपनी में काम करने वाले उनके मंगेतर केई कोमुरो (२५) ने कहा कि उन्होंने तीन वर्ष से अधिक समय पहले राजकुमारी को शादी का प्रस्ताव दिया था। उन्होंने माको को ऐसी शख्सियत बताया जो चुपचाप मानो चांद की तरह उन्हें देखती रहती हो।राजकुमारी ने कहा कि उनकी (कोमुरो की) मुस्कान सूरज की तरह है। इम्पीरियल हाउसहोल्ड एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया कि उनका विवाह वर्ष २०१८ में होगा।घोषणा को जुलाई में करने की योजना थी लेकिन उसी महीने देश के दक्षिणी क्षेत्र के भारी बारिश एवं बा़ढ से तबाह होने के चलते युगल ने इसे टालने का फैसला किया था।