संयुक्त राष्ट्र। भारत ने न्यायमूर्ति दलवीर भंडारी को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के न्यायाधीश पद के उम्मीदवार के रूप में नौ साल के एक और कार्यकाल के लिए नामित किया है।भंडारी को अप्रैल, २०१२ में संयुक्त राष्ट्र महासभा और सुरक्षा परिषद में एक साथ हुए मतदान में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के लिए चुना गया था। उनका मौजूदा कार्यकाल फरवरी, २०१८ तक है।अंतरराष्ट्रीय न्यायालय नीदरलैंड के दि हेग में स्थित है। भारत की ओर से भंडारी की दावेदारी का आवेदन संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के समक्ष कल दायर किया गया है, हालांकि आवेदन दायर करने की आखिरी तिथि तीन जुलाई है। यह चुनाव नवंबर में होगा। भंडारी यदि चुने जाते हैं तो वह नौ साल तक सेवा में रहेंगे। आईसीजे में अपने कार्यकाल के दौरान भंडारी न्यायालय के काम में सक्रियता से लगे रहे हैं। उन्होंने ११ मामलों में अपनी राय जाहिर की जिनमें समुद्री सीमा क्षेत्र विवाद, नरसंहार, परमाणु निरस्त्रीकरण, आतंकवाद के वित्तपोषण और संप्रभुता के अधिकारों का उल्लंघन जैसे विषय शामिल रहे। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में शामिल होने से पहले भंडारी ने भारत में उच्च न्यायपालिका में २० वर्षो से अधिक समय तक सेवा दी। वह उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीश रहे। आईसीजे में १५ न्यायाधीश होते हैं जिनको संयुक्त राष्ट्र महासभा और सुरक्षा परिषद में एक साथ मतदान के जरिए चुना जाता है। निर्वाचित होने के लिए उम्मीदवार को दोनों इकाइयों में पूर्ण बहमुत मिलना चाहिए।