बीजिंग। सिक्किम सेक्टर में गतिरोध के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने गुरुवार को ब्रिक्स के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों की बैठक से इतर अपने चीनी समकक्ष एवं स्टेट काउंसिलर यांग जेची से बातचीत की। सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार यांग ने दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील और भारत के साथ वरिष्ठ सुरक्षा प्रतिनिधियों के साथ अलग से मुलाकात की। डोभाल की यात्रा से सिक्किम क्षेत्र के डोकलाम इलाके में एक महीने से चल रहे गतिरोध को लेकर भारत और चीन के बीच समाधान निकलने की संभावना ब़ढ गई है। डोभाल और यांग दोनों भारत-चीन सीमा तंत्र के विशेष प्रतिनिधि हैं। आधिकारिक कार्यक्रम के अनुसार, डोभाल ब्रिक्स देशों के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों के साथ शुक्रवार को चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से भी मुलाकात करेंगे। भारतीय सेना ने भारत-भूटान-चीन सीमा पर चीनी सेना को स़डक बनाने से रोक दिया था जिसके बाद एक महीने से ज्यादा समय से चीन और भारत की सेना आमने-सामने है।भारत ने चीन के विदेश मंत्री वांग ई की उस दलील को विनम्रता से ठुकरा दिया कि दोनों देशों के बीच सार्थक बातचीत के लिए डोकलाम क्षेत्र से भारतीय सेना को बिना शर्त पीछे हटना होगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि भारत ने डोकलाम मुद्दे पर अपने रुख एवं हल खोजने के तरीके को स्पष्ट कर दिया है जिससे इसका शांतिपूर्ण ढंग से समाधान हो सके।