प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

यरूशलम/भाषा। ‘इजराइल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल रिसर्च’ (आईआईबीआर) द्वारा कोविड-19 के लिए विकसित किए गए टीके ‘ब्रिलाइफ’ का मानव पर परीक्षण स्वास्थ्य मंत्रालय और हेलसिंकी समिति से सभी आवश्यक मंजूरी मिलने के बाद एक नवम्बर से शुरू किया जाएगा।

इज़राइल के रक्षा मंत्रालय ने यह जानकारी दी। हेलसिंकी समिति अनुसंधान अनुमोदन और मानव प्रयोगों से संबंधित है।मानव पर परीक्षण की प्रक्रिया के तीन चरण हैं, जिनमें 30,000 से अधिक स्वयंसेवक हिस्सा लेंगे और इसके 2021 मध्य तक चलने का अनुमान है। इसके बाद ही लोगों के लिए यह टीका उपलब्ध हो पाएगा।

परीक्षण एक नवम्बर से दो प्रतिभागियों के साथ शुरू होगा। उनकी प्रतिक्रियाओं के आधार पर, टीके को धीरे-धीरे कुल 80 स्वयंसेवकों, प्रत्येक चिकित्सा केन्द्र में 40 को यह टीका दिया जाएग।

रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज ने कहा, ‘आईआईबीआर के शोधकर्ताओं की वजह से इज़राइल के नागरिकों के लिए यह उम्मीद का दिन है। दो महीने पहले टीके की पहली बोतल मिली थी। आज हमारे पास 25,000 खुराक हैं और परीक्षण का अगला चरण शुरू किया जा रहा है।’